न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची पहुंचा अटलजी का अस्थि कलश, प्रार्थना सभा में दी गयी श्रद्धांजलि

दिवंगत पीएम वाजपेयी को दी गयी श्रद्धांजलि, सीएम ने कहा “ सदियों में एक बार ही जन्म लेते है अटल जी जैसे विभूति “

461

Ranchi: दिवंगत प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की याद में बुधवार को डिबडीह स्थित कार्निवल हॉल में एक सार्वजनिक प्रार्थना सभा आयोजित की गयी. राज्यपाल दौपद्री मुर्मू, मुख्यमंत्री रघुवर दास, नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन, तमाम विपक्षी दलों के नेता, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा, केंद्रीय मंत्री, सांसद, रांची की मेयर, डिप्टी मेयर, विधायक, रांची उपायुक्त, वरीय पुलिस अधीक्षक सहित विभिन्न धर्मों के लोगों ने पूर्व पीएम को श्रद्धांजलि अर्पित की. इस दौरान उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा कि अटल जी से प्रेरित होकर ही उन्होंने सार्वजनिक जीवन में प्रवेश किया था. मुख्यमंत्री ने कहा कि अटल जी जैसे विभूतियां पृथ्वी पर सदियों में एक बार ही जन्म लेती है.

इसे भी पढ़ें  – महिला डिप्टी कलेक्टर का खुला पत्र- मेंटली टॉर्चर कर मेंटली स्ट्रॉन्ग बनाने के लिए थैंक्यू सर, आपके तबादले पर हम लड्डू बांटेंगे

‘हे राम हे राम’ की गीत से शुरू हुई प्रार्थना सभा

कार्निवल हॉल पहुंचने के बाद प्रार्थना सभा की शुरूआत बॉलीवुड की दिवंगत गायक जगजीत सिंह के गीत ‘हे राम हे राम’ की गीत से किया गया. मालूम हो कि पूर्व प्रधानमंत्री की याद में भाजपा ने इस सार्वजनिक प्रार्थना सभा का आयोजित किया था. प्रार्थना सभा के बाद अस्थि कलश को प्रदेश भाजपा कार्यालय में ले जाया जाएगा. वही 23 अगस्त ( गुरूवार को) अस्थि कलश यात्रा भाजपा प्रदेश कार्यालय से दोपहर एक बजे प्रारंभ होगी. यह यात्रा प्रदेश कार्यालय होते हुए विभिन्न मार्गों से होते हुए नामकूम स्थित स्वर्णरेखा घाट पहुंचेगी.

इसे भी पढ़ेंः न्यूजविंग इंपैक्टः महिला अफसर को परेशान करने का मामला, हजारीबाग DC से मांगी गई जानकारी 

वाजपेयी से प्रेरित थी, तभी आय़ी पब्लिक लाइफ में: राज्यपाल


भारत रत्न दिवंगत वाजपेयी को याद करते हुए राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि वाजपेयी जैसे व्यक्तित्व को केवल शब्द से श्रंद्धाजलि देने के लिए उनके पास शब्द ही नहीं है. उनका चरित्र ही ऐसा था कि जिसे शब्दों से वर्णन नहीं किया जा सकता. उन्होंने कहा कि वाजपेयी जी के विचारों को देखते हुए ही वह पब्लिक लाइफ में आयी थी. उनके जीवन का केवल एक ही उद्देश्य था कि कैसे देश को जोड़ा जाय. अपने पूरे जीवनकाल में उन्होंने गांव को शहर से, पंचायत को ब्लॉक से, ब्लॉक को जिले, व्यक्ति को व्यक्ति को ही जोड़ने का काम किया. प्रधानमंत्री बनने के बाद हर वक्त दिवंगत प्रधानमंत्री वाजपेयी देश के पिछड़े हुए लोग (आदिवासी, दलित सहित पिछड़े समाज) के हित के लिए काम किया. सबसे बड़ी बात यह है कि वर्तमान झारखंड राज्य का निर्माण उन्होंने इसी आदिवासी समाज के हित के लिए ही किया था.

इसे भी पढ़ेंः  लेटर नहीं लिखती तो मैं सुसाइड कर लेतीः डिप्टी कलेक्टर दीपमाला

अटल जी का जाना देश के लिए अपूरणीय क्षति: रघुवर दास

palamu_12


मौके पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने नम आंखों से कहा कि देश के महान सपूत भले ही अब हमारे बीच नहीं है. इसके बावजूद उनका मानना है कि अटल जी अभी भी हमारे बीच में है. साथ ही आने वाले समय में देशवासियों के बीच रहेंगे. उनके आदर्श और जीवन के प्रति रुख भविष्य में भी लोगों के मार्गदर्शन का काम करते रहेंगे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि अटल जी जैसी विभूतियां पृथ्वी पर सदियों में कभी-कभी ही जन्म लेती है. वे न केवल कुशल राजनेता थे बल्कि एक प्रभावशाली कुशल वक्ता के साथ-साथ साहित्यकार भी थे. देश के वे एक महान राजनेता थे जो सड़क से लेकर सड़क तक त्रोताओं को समान रुप से प्रभावित करते रहे. मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे विभूति का जाना वाकई देश के लिए एक अपूरणीय क्षति है, जिसकी भरपाई नहीं की जा सकती.

इसे भी पढ़ेंः धनबादः JVM नेता व कोल ट्रांसपोर्ट कंपनी इंचार्ज रंजीत सिंह की हत्या और SSP का हास्यास्पद बयान

‘अटल जी अमर रहे’ के लगे नारे

इससे पहले शाम साढ़े पांच बजे बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर वाजपेयी का अस्थि कलश पहुंचा. कलश को लेकर प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा मेयर आशा लकड़ा, नगर विकास मंत्री सीपी सिंह डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय सहित तमाम भाजपा कार्यकर्ताओं ने सड़क मार्ग होते हुए डिबडीह स्थित कार्निवल हॉल पहुंचे. इस दौरान पूरे मार्ग वाले रास्ते तक कार्यकर्ताओं ने ‘अटल बिहारी अमर रहे’ ‘जब तक सूरज चांद रहेगा अटल जी आपका नाम रहेगा’ के नारे से पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी को याद किया गया.

सत्ता पक्ष सहित विपक्षी नेता थे उपस्थित

श्रद्धांजलि अर्पित करते हेमंत सोरने

दिवंगत पीएम वाजपेयी की याद में आयोजित उक्त प्रार्थना सभा में भाग लेने के लिए भाजपा ने सभी राजनीतिक दल के नेताओं को आमंत्रित किया था. भाजपा के प्रदेश महामंत्री दीपक प्रकाश के मुताबिक इसमें कांग्रेस, झामुमो, राजद, आजसू, लोजपा, सीपीआई, सीपीएम, बसपा, झाविमो सहित राजनीतिक दलों को प्रार्थना सभा में शामिल होने के लिए पत्र भेजा गया था. साथ ही फोन पर संपर्क कर भी उन्हें आमंत्रित किया गया था. इस दौरान केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा, सुदर्शन भगत, झारखंड सरकार के तमाम मंत्रियों सहित झामूमो से कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन, सुप्रियो भट्टाचार्य, आजसू से चंद्र प्रकाश चौधरी, कांग्रेस से पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय, रांची की मेयर आशा लकड़ा , डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय, झाविमो से शोभा यादव जैसे विपक्षी दलों के नेता उपस्थित रहे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: