न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अटल वेंडर मार्केट: फर्जी तरीके से दुकान लेनेवाले दुकानदारों का होगा री-वेरिफिकेशन

वेंडर मार्केट कमेटी की बैठक में लिया गया निर्णय

269

Ranchi: कचहरी रोड में बने अटल स्मृति वेंडर मार्केट में गलत तरीके से एंट्री पाये दुकानदारों को बाहर निकालने के लिए री-वेरिफिकेशन होगा. नगर आयुक्त ने इसका निर्देश दे दिया है. उनका यह आदेश मार्केट में बैकडोर से दुकान हासिल करने की खबर सामने आने के बाद आया है. मंगलवार को टाउन वेंडर कमिटी की बैठक बाद उन्होंने यह निर्देश दिया है. निर्देश के तहत री-वेरिफिकेशन का यह कार्य टाउन वेंडिंग कमेटी के 30 सदस्यों के सामने होगा. कमेटी के सामने हुई इस जांच के दौरान जिन दुकानदारों का नाम सामने आयेगा कि उसने कभी फुटपाथ पर दुकान नहीं लगायी है. उसके नाम को मौके पर ही काट दिया जायेगा. बैठक में उप नगर आयुक्त शंकर यादव, सहायक नगर आयुक्त रजनीश कुमार, सिटी मिशन मैनेजर विकास कुमार, सौरभ वर्मा सहित फुटपाथ दुकानदार व चेंबर के लोग उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – Ranchi Nomination: उम्मीदवारी में सेठ पर भारी सहाय, लेकिन मोरहाबादी ने हरमू मैदान को दी है मात

400 से अधिक दुकानदारों को दिया गया है दुकान

hosp3

मालूम हो कि वेंडर मार्केट में 400 से अधिक फुटपाथ दुकानदारों को दुकान का आवंटन गत 8 मार्च को किया गया था. दुकान आवंटन के बाद फुटपाथ दुकानदारों के प्रतिनिधिमंडल ने नगर आयुक्त को ज्ञापन सौंप कर मांग की थी कि इस सूची में ऐसे कई लोगों के नाम हैं, जिन्होंने कभी फुटपाथ पर दुकान लगायी ही नहीं है. मामला के तूल पकड़ने के बाद नगर आयुक्त ने टाउन वेंडिंग कमेटी की बैठक बुलायी थी. जिसमें 11 फर्जी फुटपाथ दुकानदारों द्वारा दुकान लेने का मामला सामने आया था.

इसे भी पढ़ें – झुमरा समेत नक्सल क्षेत्र में जनता जागरुक एवं निर्भीक होकर करे मतदान : एएसपी अभियान

18 तक जा पहुंची है फर्जी दुकानदारों की सूची

टाउन वेंडिंग कमेटी के सदस्यों का कहना है कि दुकान आवंटन में पूर्व में 11 फर्जी फुटपाथ दुकानदारों के नाम की पहचान की गयी थी. जो बढ़ कर अब 18 तक पहुंच गयी है. इसलिए इस मामले की सही से जांच होनी जरूरी है. इसलिए फुटपाथ दुकानदारों ने निगम अधिकारियों से यह मांग भी की है कि फर्जी दुकानदारों को बाहर करने के साथ-साथ जिन लोगों ने इन फर्जी दुकानदारों को मार्केट में दुकान उपलब्ध कराने में भूमिका निभायी है, ऐसे कर्मचारी व पदाधिकारी की भूमिका की जांच कर उस पर भी कार्रवाई की जाये.

इसे भी पढ़ें – भेलवाघाटी मुठभेड़ में मारे गये तीन नक्सलियों में से एक का भाई पहुंचा शव लेने, नक्सली मानने से किया इनकार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: