JharkhandRanchi

अटल वेंडर मार्केट : 90 रुपये प्रति स्क्वायर फीट दुकान के किराये पर लोगों ने नहीं दिखायी रुचि, अब 40 रुपये प्रति स्क्वायर फीट पर देगा निगम

Ranchi :  राजधानी के कचहरी रोड स्थित अटल स्मृति वेंडर मार्केट में दुकानों को किराये पर देने की कवायद फिर से शुरू हो गयी है. पिछले वर्ष जुलाई माह में दूसरे और तीसरे तल्ले पर कुल 75 दुकानों को किराये पर देने के लिए प्री बिड मीटिंग आयोजित की गयी थी. दुकानों का बेस रेट 90 रुपये स्क्वायर फीट प्रतिमाह तय किया गया था.

यानी 10/10 स्क्वायर फीट की कोई दुकान मार्केट में है, तो उसका बेस किराया प्रति माह 9000 रुपये + जीएसटी (18 प्रतिशत) तय किया गया था. हालांकि महंगे रेट के कारण कोई व्यक्ति दुकान में रुचि नहीं ले रहा था. इसे देखते हुए निगम ने पिछले दिनों दुकान का रेट घटाकर 70 रुपये प्रति स्क्वायर फीट तय किया था.

लेकिन फिर भी किसी दुकानदार ने इसपर कोई रुचि नहीं दिखायी. अब इस रेट को फिर से घटाकर 40 रुपये प्रति स्क्वायर फीट कर दिया गया है. यह रेट मार्केट के दूसरे तल्ले की 47 दुकानों के लिए है.

इसे भी पढ़ेंः केजरीवाल का बड़ा फैसला : प्राइवेट और सरकारी अस्पतालों में अब सिर्फ दिल्ली के कोरोना मरीजों का होगा इलाज

डेढ़ साल बाद भी नहीं मिले दुकानदार

बता दें कि फुटपाथ दुकानदारों को स्थायी रूप से बसाने के लिए रांची नगर निगम ने करोड़ो की लागत से अटल वेंडर मार्केट बनाया है. 16 नवंबर 2018 को तत्कालीन मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इसका उद्घाटन किया था. काफी विवाद के बाद अटल वेंडर में फुटपाथ दुकानदारों को तो बसा दिया गया था.

लेकिन डेढ़ साल बीतने को है, लेकिन अभी तक मार्केट की दुकानों को किराया पर नहीं दिया गया है. इसका कारण दुकानों का तय किया गया बेस रेट था. काफी महंगी दर होने के कारण कोई भी व्यक्ति मार्केट परिसर की इन दुकानों में रुचि नहीं ले रहा था.

इसे भी पढ़ेंः भारत-चीन सीमा विवाद : कमांडर लेवल की बातचीत के बाद शांतिपूर्ण समझौते के लिए चीन राजी

adv

खाली दुकानों से निगम को हो रहा नुकसान

निगम ने पिछले वर्ष 26 जुलाई को मार्केट के दूसरे और तीसरे तल्ले पर 75 दुकानों को किराये पर देने के लिए एक प्री बिड मीटिंग आयोजित की थी. उपनगर आयुक्त ज्योति कुमार सिंह ने बताया था कि 75 दुकानों के लिए प्रति दुकान 90 रुपये स्क्वायर फीट निर्धारित किया गया है. हालांकि मीटिंग में भाग लेने वाले कई दुकानदार जहां प्री बिड ईएमडी के लिए तय राशि (1.56 लाख रुपये) से नाखुश दिखे थे.

वहीं प्रति दुकान निर्धारित किये गये बेस रेट (90 रुपये स्क्वायर फीट) को भी काफी अधिक बताया गया था. बैठक को बीते 10 माह हो चूके हैं, लेकिन इन दुकानों को किराया पर नही लगाया है. बिना किराये की दुकानों के मेंटनेंस से निगम को काफी आर्थिक नुकसान हो रहा है. इसे देख अब निगम ने अब दूसरे तल्ले पर की 47 दुकानों को किराये पर देने का निर्णय लिया है. दुकानों का रेट 40 रुपये प्रति स्क्वायर फीट तय किया गया है.

इसे भी पढ़ेंः बिहार: अमित शाह की ऑनलाइन रैली से पहले जारी पोस्टर वॉर, तेजस्वी ने कहा-थाली पीटकर करें विरोध

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: