न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सहायक अभियंता ने लिपिक पर एससी-एसटी के तहत कराया एफआईआर दर्ज

शराब के नशे में गाली गलौज करने के आरोप में डीसी ने लिपिक को किया निलंबित

730

Pakur : शराब पीकर सहायक अभियंता के साथ गाली गलौज करने के आरोप में उपायुक्त दिलीप कुमार झा ने जिला पंचायत शाखा के लिपिक अनिल कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है. उपायुक्त ने स्पष्ट रूप से अपने आदेश में लिखा है कि जिला पंचायत शाखा वर्तमान में प्रतिनियुक्त समेकित जनजाति विकास अभिकरण के लिपिक अनिल कुमार द्वारा 6 जुलाई को कार्यालय अवधि में शराब पीकर सहायक अभियंता समेकित जनजाति विकास अभिकरण के साथ कार्यालय में गाली-गलौज तथा मारपीट किया गया. उनके द्वारा अशोभनीय आचरण और घोर अनुशासनहीनता सरकारी सेवक आचार नियमावली का उलंघन है. डीसी ने अनिल कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए मुख्यालय पाकुड़िया ब्लॉक किया है. निलंबन अवधि में उपस्थिति के आधार पर ही उन्हें झारखंड सेवा संहिता के नियम-96 के तहत जीवन यापन भत्ता देय होगा. उपायुक्त ने परियोजना निदेश आइटीडीए को निर्देश दिया है कि लिपिक अनिल कुमार के विरुद्ध विभागीय संचालन के लिए प्रपत्र क गठित करते हुए जिला स्थापना को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया.

mi banner add
उपायुक्‍त के द्वारा निकाली गयी आदेश की कॉपी
उपायुक्‍त के द्वारा निकाली गयी आदेश की कॉपी

इसे भी पढ़ेंः गुमला के सिसई प्रखंड में मनरेगा योजना के नाम पर हो रही पैसों की बंदरबांट

अभियंता ने एससी-एसटी के तहत कराया मामला दर्ज..

Related Posts

बकरी बाजार मैदान में कॉम्प्लेक्स बनाने के निर्णय को रद्द करने की मांग, AAP ने मेयर को सौंपा ज्ञापन

पार्टी ने मांग की कि उस मैदान को बच्चों के खेल के मैदान-पार्क के रूप में विकसित किया जाये

आईटीडीए के सहायक अभियंता शिवचंद्र ने लिपिक अनिल कुमार पर एससी-एसटी के तहत नगर थाना में मामला दर्ज कराया है. शिवचंद्र ने नगर थाना में आवेदन में उल्लेख् किया है कि 6 जुलाई को समेकित जनजाति अभिकरण कार्यालय गया हुआ था. अनिल कुमार शराब के नशे में थे. मेरे साथ मारपीट करते हुए गाली गलौज करने लगा. उनके द्वारा जाति सूचक शब्द का इस्तेमाल करते हुए गाली दी. पुलिस ने कांड संख्या 133/18 भादवि की धारा 341, 323, 504 आईपीसी एवं एससी-एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: