GiridihJharkhand

गिरिडीह में विधानसभा की प्रश्न एवं ध्यानाकर्षण समिति की बैठक, बिजली-पानी की समस्या पर भड़के

Giridih: विधानसभा की ध्यानाकर्षण और प्रश्नकाल समिति बुधवार को गिरिडीह पहुंची. समिति की बैठक सर्किट हाउस में हुई. जिसमें विधायक समरीलाल और गांडेय विधायक डा. सरफराज अहमद के साथ डीसी नमन प्रियेश लकड़ा समेत कई अधिकारी शामिल हुए. वैसे समिति के पास गिरिडीह से जुड़े सिर्फ तीन सवाल दो विधायकों के थे. जिसमें बगोदर विधायक विनोद सिंह, जमुआ विधायक केदार हाजरा शामिल हैं. समिति की बैठक में बिजली-पानी का मुद्दा उठा. जिसमें शहरी क्षेत्र के लिए नगर निगम के साथ बिजली बोर्ड के अधिकारियों की खिचांई हुई. जबकि ग्रामीण क्षेत्र के पीएचईडी और बिजली बोर्ड. दोनों विधायकों ने निगम और बिजली बोर्ड के पदाधिकारियों से कई सवाल पूछे. लेकिन दोनों के पास कोई जवाब नहीं था. इस दौरान विधायकों ने पूछा कि क्या शहरी क्षेत्र में पेयजलापूर्ति के लिए खंडौली को सही से लाइन दिया जाता है या नहीं. इस पर बिजली बोर्ड के पदाधिकारी ने हां में जवाब दिया. तो दूसरी तरफ निगम के पदाधिकारियों का कहना था कि खंडौली में बिजली आपूर्ति कब होगा, और कितने घंटे, इसकी जानकारी तक निगम को नहीं दी जाती. इस पर दोनों विधायकों ने निगम और बिजली बोर्ड को फटकार लगाते हुए कहा कि दोनों में तालमेल का जबरदस्त अभाव है. तालमेल के अभाव के कारण ही शहरी क्षेत्र में अक्सर पेयजलापूर्ति का हाल खराब रहता है. लिहाजा, दोनों को कड़ा निर्देश दिया गया कि हर हाल में आपस में तालमेल के साथ कार्य करे. समीक्षा के क्रम में यही हाल ग्रामीण पेयजलापूर्ति को लेकर भी सामने आया. इधर बैठक में जब कई और विभागों की समीक्षा हुई. तो ग्राम्य अभियंत्रण संगठन आरईओ से बेंगाबाद समेत कई प्रखंडो में बनने वाले सड़कों के गुणवत्ता पर तो सवाल उठे ही. साथ ही वक्त पर सड़क निर्माण के योजनाओं को पूरा नहीं होने पर समिति के सदस्यों ने आरईओ के लापरवाह ठेकेदारों को ब्लैक लिस्टेड करने का निर्देश दिया.

इसे भी पढ़ें: पूजा सिंघल सहित तीन की न्यायिक हिरासत की अवधि 31 अगस्त तक बढ़ी

Related Articles

Back to top button