NationalTOP SLIDER

विधानसभा चुनाव 2021: जानिए ओपिनियन पोल के मुताबिक किस राज्य में किसकी सरकार

New Delhi: पश्चिम बंगाल समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव की तारीखों के एलान का बाद अब सी-वोटर के ओपिनियन पोल आया है.

सर्वे के मुताबिक, पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी अब भी मुख्यमंत्री पद के लिए पहली पसंद हैं, जबकि असम में भाजपा सरकार की वापसी के आसार हैं. वहीं तमिलनाडु में इस बार सत्ता परिवर्तन हो सकता है, जबकि केरल में  फिर वामदल की सरकार आ सकती है.

इसे भी पढ़ें – जानिये रांची के किन निजी अस्पतालों में 1 मार्च से मिलेगी कोरोना वैक्सीन, कितने पैसे चुकाने होंगे

जानिए बंगाल का मूड

पश्चिम बंगाल में सर्वे में शामिल 56 प्रतिशत लोगों ने ममता बनर्जी को सीएम के तौर पर देखने की ख्वाहिश जतायी, जबकि  25 प्रतिशत लोग भाजपा नेता दिलीप घोष को मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं. वहीं, 9 फीसदी लोगों की पसंद मुकुल राय और 2 फीसदी की पसंद सुवेंदु अधिकारी हैं.

सर्वे में शामिल 48 प्रतिशत लोगों ने ममता बनर्जी सरकार के कामकाज को अच्छा बताया. 34 फीसदी ने ममता सरकार के कामकाज को खराब कहा और 18 प्रतिशत ने औसत बताया.

वहीं पीएम मोदी का कामकाज कैसा रहा? इस सवाल के जवाब में 47 फीसदी ने अच्छा, 39 फीसदी ने खराब और 14 प्रतिशत ने औसत करार दिया. पीएम मोदी और अमति शाह के बंगाल के ज्यादा दौरों से बीजेपी को फायदा होगा या नहीं, इस पर 45 प्रतिशत ने कहा कि फायदा होगा. 41 प्रतिशत को लगता है कि पीएम मोदी और गृह मंत्री शाह के दौरों से बीजेपी को कोई फायदा नहीं होगा. 14 प्रतिशत लोगों ने इस पर कोई राय नहीं दी.

इसे भी पढ़ें – साइबर क्राइम :  लखनऊ एटीएस की टीम पहुंची देवघर, फर्जी आर्म्स विक्रेता को गिरफ्तार किया

असम में एक बार फिर बीजेपी!

सर्वे के मुताबिक, 126 विधानसभा सीटों वाले असम में एक बार फिर से बीजेपी की सरकार बन सकती है. पार्टी को 68-76 सीटें मिल सकती हैं. कांग्रेस गठबंधन को 43-51 सीटें और अन्य के खाते में 5-10 सीटें जा सकती हैं. अगर वोट शेयर की बात करें तो सूबे में बीजेपी को 42 प्रतिशत, कांग्रेस+ को 31 प्रतिशत और अन्य के खाते में 27 प्रतिशत वोट जा सकते हैं.

तमिलनाडु किस रास्ते पर

सर्वे के मुताबिक, तमिलनाडु में इस बार सत्ता परिवर्तन हो सकता है. यहां एआईएडीएमके-बीजेपी गठबंधन को करारी शिकस्त झेलनी पड़ सकती है. तमिलनाडु में विधानसभा की 234 सीटें हैं. सर्वे के मुताबिक यहां बीजेपी-एआईएडीएमके गठबंधन को 58 से 66 सीटों से संतोष करना पड़ सकता है.

डीएमके-कांग्रेस गठबंधन को 154 से 162 सीटें मिल सकती हैं. वहीं अन्य के खाते में 8 से 20 सीटें जाने का अनुमान है.

केरल में फिर से लेफ्ट: सर्वे

केरल में लेफ्ट फ्रंट अपना गढ़ बचाने में कामयाब हो सकता है. 140 सदस्यों वाली केरल विधानसभा में लेफ्ट के गठबंधन लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट फिर से सरकार बना सकती है. राज्य में लंबे वक्त से कभी सत्ता कांग्रेस गठबंधन के पास रहती है तो 5 साल बाद लेफ्ट गठबंधन के पास. लेकिन इस बार वहां का यह सिलसिला टूट सकता है.

सर्वे के मुताबिक एलडीएफ को 83-91 सीटें, कांग्रेस की अगुआई वाले यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट को 47-55 सीटें मिल सकती हैं. इस दक्षिणी राज्य में जोर लगा रही बीजेपी अपनी छाप छोड़ने में नाकाम रह सकती है. उसे 0 से 2 सीटें मिलने का अनुमान है. अन्य के खाते में भी 0-2 सीटें जा सकती हैं.

इसे भी पढ़ें – मुंबई पुलिस ने बॉलीवुड एक्टर ऋतिक रोशन से 2.30 घंटे तक की पूछताछ, जानिये क्या है मामला

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: