National

हाफिज सईद केस में दो करोड़ मांगने का आरोप, जांच के घेरे में NIA के तीन बड़े अफसर

New Delhi : राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने टेरर फंडिंग मामले को लेकर कई बड़े लोगों पर अब तक शिकंजा कसा है. लेकिन अब खुद एनआइए के तीन अफसर इस टेरर फंडिंग मामले में फंसते नजर आ रहे हैं. एनआइए के तीन बड़े अफसर जांच के घेरे में हैं.

इन तीनों अफसरों में एक एसपी स्तर के अधिकारी भी शामिल हैं. आरोप है कि इन तीनों अफसरों ने आतंकियों को पैसे देने के मामले में नाम नहीं घसीटने के लिए दिल्ली के एक व्यापारी को ब्लैकमेल किया था उससे दो करोड़ रुपये लिये थे.

इसे भी पढ़ें- अर्थव्यवस्था की हकीकत सामने है, मोदी की नीतियां जिम्मेदार, जानें- क्या कहते हैं बड़े अर्थशास्त्री

एनआइए ने मामले को गंभीरता से लिया

इकोनॉमिक्स टाइम्स की खबर के मुताबिक लगभग एक महीने पहले ही तीनों अफसरों के खिलाफ जांच एजेंसी को शिकायत मिली थी. तीनों के खिलाफ शिकायत मिलने के बाद एनआइए ने इस मामले को गंभीरता से लिया और इसकी जांच शुरू कर दी.

जांच के शुरूआती दौर में तीनों अफसरों का तबादला एनआइए से कर दिया गया. इस मामले की जांच डीआइजी रैंक के अधिकारी कर रहे हैं. वहीं इस मामले में पूरी जांच होने के बाद ही एनआइए आगे की कार्रवाई करेगी.

इसे भी पढ़ें- ऑटो सेक्टर में मंदी के बाद अब बैंक-इंफ्रास्ट्रक्चर समेत कई सेक्टरों में घटी नौकरी की रफ्तार!

मामले में चल रही जांच

गौरतलब है कि यह शिकायत तब मिली थी जब तीनों अफसर पाकिस्तान आधारित कुख्यात आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैय्यबा के चीफ हाफिज सईद द्वारा चलाए जा रहे एक फाउंडेशन Falah-i-Insaniyat Foundation (FIF) की जांच कर रहे थे.

हालांकि तीनों अफसरों का एनआइए से ट्रांसफर कर दिया गया है, लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि इनकी संलिप्ता इस मामले में है. फिलहाल इस मामले की जांच चल रही है और जांच पूरी होने तक इस मामले में कुछ नहीं कहा जा सकता.

जांच पूरी होने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है. जांच किसी भी तरह से प्रभावित न हो इसलिए इस मामले में बिजनेसमैन, एसपी और अन्य पुलिस अफसरों के नाम गुप्त रखे गये हैं.

Related Articles

Back to top button