SportsTODAY'S NW TOP NEWS

एशियन गेम्सः भारत का रिकॉर्ड तोड़ प्रदर्शन, 14वें दिन दो और गोल्ड

Jakarta: 18 वें एशियाई खेलों में रिकॉर्ड तोड़ प्रदर्शन करते हुए भारतीय खिलाड़ियों ने इस बार अबतक 15 गोल्ड मेडल जीते है. ये आंकड़ा 1951 में दिल्ली में हुए एशियन गेम्स के बराबर है. इस साल भारत की झोली में 15 स्वर्ण पदक आये थे. शनिवार को 14 वें दिन के खेल में पहले बॉक्सर अमित पंघल ने गोल्ड जीता. उसके बाद ब्रिज के मेंस पेयर में प्रणब-शिबनाथ ने देश को स्वर्ण दिलाया.

इसे भी पढ़ेंःभारतीय महिला हॉकी का टूटा गोल्ड का सपना, जापान से 1-2 से मिली शिकस्त

प्रणब-शिबनाथ ने दिलाया 15वां गोल्ड

प्रणब बर्धन और शिबनाथ सरकार ने शनिवार को पुरूषों की युगल स्पर्धा में पहला स्थान हासिल करके भारत को 18वें एशियाई खेलों में ब्रिज प्रतियोगिता का स्वर्ण पदक दिलाया. साठ वर्षीय प्रणब और 56 वर्षीय शिबनाथ फाइनल्स में 384 अंकों के साथ शीर्ष पर रहे. चीन के लिक्सिन यांग और गांग चेन ने 378 अंक हासिल करके रजत तथा इंडोनेशिया के हेंकी लासुट और फ्रेडी इडी मोनोप्पा ने 374 अंक साथ कांस्य पदक जीता.

advt

भारत की दो अन्य जोड़ियां हालांकि अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पायी. सुमित मुखर्जी और देबब्रत मजूमदार की जोड़ी 333 अंक लेकर नौवें जबकि सुभाष गुप्ता और सपन देसाई 306 अंक के साथ 12वें स्थान पर रहे.

इसे भी पढ़ेंःआजसू ने खिलाड़ियों संग मनाया मधुमिता की जीत का जश्न, दी बधाई

अमित ने ओलंपिक चैंपियन को हरा जीता गोल्ड

इससे पहले अमित पांघल (49 किग्रा) ने मौजूदा ओलंपिक और एशियाई चैंपियन हसनब्वाय दुसमातोव को हराकर एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीता. गोल्ड जीतने वाले ओवरऑल आठवें भारतीय मुक्केबाज बने.

सेना के 22 वर्षीय अमित फाइनल में पहुंचने वाले एकमात्र भारतीय मुक्केबाज थे. उन्होंने प्रबल दावेदार दुसमातोव को 3-2 से हराया. उन्होंने इस तरह से पिछले साल विश्व चैंपियनशिप में उज्बेकिस्तान के इस मुक्केबाज से मिली हार का बदला भी चुकता कर दिया.

adv

एशियाई खेलों में पहली बार भाग ले रहे अमित ने अपने तकनीकी कौशल का शानदार नमूना पेश किया. उज्बेक के मुक्केबाज का अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी में विशिष्ट स्थान है लेकिन अमित के शानदार रक्षण के सामने उनकी एक नहीं चली. दुसमातोव ने पिछले साल विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक जीता था.

इसे भी पढ़ेंःएशियन गेम्स : ‘सिल्वर’ जीत मधुमिता ने बढ़ाया झारखंड का मान, सरकार देगी 10 लाख

अमित के करियर की यह सबसे बड़ी जीत है. उन्होंने पिछले साल एशियाई चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता था. विश्व चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में पहुंचने वाले इस मुक्केबाज ने राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीता था. इससे पहले उन्होंने इंडिया ओपन और बुल्गारिया में प्रतिष्ठित स्ट्रैन्दजा मेमोरियल में स्वर्ण पदक जीते थे.

इसे भी पढ़ेंःओलिंपिक की मेजबानी मिले, तो खेल के लिए अच्छा माहौल तैयार होगा

पदक तालिका

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button