JharkhandRanchiSports

Asian Athletics Championship 2023 : खेल विभाग का सरेंडर, एक बार फिर झारखंड के हाथों से छूटा इंटरनेशनल स्पोर्ट्स इवेंट के आयोजन का मौका

तीन सप्ताह में भी खेल विभाग नहीं ले सका फैसला

Ranchi: इंटरनेशनल स्पोर्टस इवेंट के आयोजन से झारखंड एक बार फिर चूक गया. अप्रैल-मई 2023 में 25वां एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप प्रस्तावित है. इसका आयोजन भारत में ही होना है.

इस संबंध में एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने झारखंड सरकार से बिड (बोली) में शामिल होने के बारे में पूछा. जानकारी के मुताबिक खेल विभाग के पास 7 सितंबर को लेटर भेजा था.

ram janam hospital
Catalyst IAS

तीन सप्ताह बीतने और 30 सितंबर की समय सीमा खत्म होने तक तक भी विभाग इस पर फैसला नहीं ले सका. इससे इस इंटरनेशनल स्पोर्टस इवेंट्स के आयोजन का सुनहरा मौका झारखंड के हाथों से निकल गया.

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

इसे भी पढ़ें – अनलॉक-5 की गाइडलाइंस जारी, जानिए और क्या-क्या खुल रहे

2017 में भी हाथ रहा खाली

रघुवर सरकार में भी ऐसी ही एक घटना हुई थी. 2017 में 22वां एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप का आयोजन रांची में होना तय माना जा रहा था. आयोजन के लिये अंतिम डेट से 4 से 5 दिनों पहले विभाग ने आयोजन के लिये खुद को सक्षम नहीं बताया.

जबकि लगभग 48 लाख रुपये खर्च किये जा चुके थे. इससे देशभर में झारखंड की किरकिरी हुई थी. अंततः ओडिसा को इसके आयोजन का मौका मिला.

हेमंत की पहल पर हुआ था इंटरनेशनल चैंपियनशिप का आयोजन

राज्य में पहली बार 2013 में एक इंटरनेशनल स्पोर्टस चैंपियनशिप का आयोजन हुआ था. जूनियर साउथ एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप की मेजबानी झारखंड को मिली थी.

तत्कालीन सीएम हेमंत सोरेन की अगुवाई में शानदार तरीके से इसका आयोजन रांची में हुआ था. इस दौरान उन्होंने झारखंड में उपलब्ध खेल संसाधनों का उपयोग करते हुए आगे भी बड़े आयोजनों का लाभ उठाने की बात कही थी.

ग्लोबल पहचान का बनता मौका

2023 में प्रस्तावित एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप के आयोजन के लिये खेल विभाग की बेरूखी से सवाल खड़े हो रहे हैं. आयोजन के लिये 16 करोड़ रुपये की चिंता विभाग करता रह गया.

जबकि आयोजन से 45 देशों के 1200 इंटरनेशनल प्लेयर्स को देखने का आनंद राज्य के प्लेयर्स को मिलता. खेलों की नयी आधारभूत संरचनाएं भी तैयार होतीं.

झारखंड के टूर एंड ट्रैवल, होटल इंडस्ट्री, लोक कला, संस्कृति को भी प्रचार प्रसार का मौका बनता. चीन, जापान, ईरान, इराक, इंडोनेशिया, कोरिया जैसे देश आते. उनके साथ आने वाली मीडिया टीम के जरिये झारखंड को ग्लोबल पहचान मिलती.

इसे भी पढ़ें –बगैर आधार कार्ड, बैंक पासबुक और जाति प्रमाण पत्र के भी राशन कार्ड के लिए होगा ऑनलाइन आवेदन

आखिरी डेट में मीटिंग

जानकारी के मुताबिक खेल सचिव पूजा सिंघल ने एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के प्रतिनिधि के साथ बैठक भी की. बिड के लिये सोचने को आखिरी डेट को हुई इस बैठक में भी कोई ठोस बात नहीं बनी.

न्यूज विंग ने सचिव से आयोजन के संबंध में फैसला लिये जाने के बारे में मैसेज करके जानकारी भी मांगी पर कोई सूचना नहीं दी गयी.

अब इंटरनेशनल स्पोर्ट्स इवेंट्स चैलेंज

झारखंड एथलेटिक्स संघ के प्रमुख मधुकांत पाठक के अनुसार एथलेटिक्स फेडरेशन भी एशियन चैंपियनशिप के आयोजन को लेकर सरेंडर कर चुका है. आखिरी डेट तक उन्हें कोई सूचना नहीं मिली है.

राज्य में 2017 में एक इंटरनेशनल स्पोर्टस इवेंट प्रोग्राम लास्ट टाइम कैंसिल किया गया था. एक बार फिर अभी ऐसा हुआ है. यह निराशाजनक है. अब किसी नेशनल फेडरेशन की रुचि झारखंड के लिये नहीं दिखेगी.

इसे भी पढ़ें –हाइकोर्ट ने रणधीर सिंह और नवीन जयसवाल की याचिका खारिज की, दो सप्ताह में खाली करना होगा आवास

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button