West Bengal

#Asansol: ठगी के रुपये को गिफ्ट वाउचर में बदलकर होने वाले थे फरार, तीन साइबर अपराधी गिरफ्तार  

Asansol: आसनसोल साउथ थाना पुलिस ने अवर निरीक्षक विकास सिंह की शिकायत पर कांड संख्या 36 / 2020 में आईपीसी की धारा 467, 468, 471, 420, 379, 411, 413, 414 और 120 बी के तहत गुरुवार को ठगी के पैसों को गिफ्ट बाउचर बनाकर सोने के जेवरात की खरीदी करने वाले चार आरोपितों को गिरफ्तार किया.

शुक्रवार को इवनिंग लॉज स्थित पुलिस आयुक्त कार्यालय के सभागार में एडीसीपी (सेंट्रल) सायक दास ने पत्रकार सम्मलेन कर बताया कि ठगी के रुपये को गिफ्ट बाउचर में परिवर्तित कर पांच सौ भरी सोने के जेवरात, सोने का सिक्का तथा सोने के सामग्री के साथ 11 लाख रुपये नगदी के साथ झारखंड़ राज्य के  जामताड़ा निवासी विवेक कुमार मंडल, मुकेश कुमार मंडल को आसनसोल में गिरफ्तार किया.

इसे भी पढ़ें : #IAS TRANSFER: प्रवीण टोप्पो को 4 विभाग, सुनील कुमार योजना वित्त सचिव, प्रशांत कुमार को ग्रामीण विकास पंचायती राज का जिम्मा

12 दिन की रिमांड पर भेजे गये

इन दोनो के निशानदेही पर स्थानीय सहयोगी अंडाल के काजल मंडल तथा सोने के खरीदार दुर्गापुर बेनाचिटी बाजार के धनजी पाटिल को भी गिरफ्तार किया गया.

इनको मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (सीजेएम) संदीप चक्रवर्ती के समक्ष पेश किया गया. सभी आरोपितों को कांड के जांच अधिकारी सोमनाथ पाल ने कांड से जुड़े आरोपियो की जांच के लिये 14 दिनों की पुलिस रिमांड की मांग कोर्ट से की.

जिसमें ठगी से जुड़े तीन आरोपी विवेक मंडल, मुकेश मंडल तथा काजल मंडल की 12 दिन की रिमांड मंजूर की गयी. साथ ही सोने के खरीदार धनजी पाटिल को 11 दिनो की रिमांड मंजूर की गयी.

उन्होने बताया कि साइबर क्राइम तथा जीआरपी के संयुक्त अभियान में दो आरोपी  विवेक मंडल तथा मुकेश मंडल को गिरफ्तार किया गया. उनके पास से एक फोलियो बैग से सोने का 16 बाला, गोल्डन प्लेट, शंख, चार अंगुठी बरामद हुआ.

उनके निशानदेही पर काजल मंडल को अंडाल थाना अंतर्गत खंदरा उसके निवास स्थान से गिरफ्तार किया गया. उसके पास से सोने का सात बाला, तीन पेंडेंट, एक प्लेट, सात सिक्का और पांच लाख रूपया बरामद हुआ.

इनलोगों के पास पैसे तथा सोने से जुडें कोई दस्तावेज नहीं मिले. उन्होने कहा कि दो आरोपी दूसरे राज्य झारखंड से हैं. इसलिए जामताड़ा पुलिस के सहयोग से जांच अभियान को आगे बढाया जायेगा.

इसे भी पढ़ें : #JAC : 11 फरवरी से ढाई लाख विद्यार्थी देंगे इंटर की परीक्षा, 18 जनवरी से एडमिट कार्ड होगा डाउनलोड

अपने तरह का पहला मामला

उन्होने कहा कि पुलिस मामले से जुड़े सभी पहलुओं पर गंभीरता से जांच कर रही हैं. इस प्रकार के गिफ्ट बाउचर के माध्यम से सोने की सामग्री की खरीदारी करने का यह पहला मामला सामने आया है.

पुलिस प्रशासन की ओर से आसनसोल के विभिन्न शॉपिंग मॉल में जागरुकता के लिये लिफलेट आदि का वितरण किया जाता रहा हैं.

इसे भी पढ़ें : झारखंड विकास मोर्चा की केन्द्रीय कार्यसमिति गठित, पदाधिकारियों की लिस्ट से बाहर हुए विधायक प्रदीप और बंधु

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: