West Bengal

आसनसोल : चेलीडंगाल से लापता हुई स्कूली छात्रा अमरप्रीत का शव अपकार गार्डेन इलाके में मिला

Asansol : आसनसोल दक्षिण थाना अंतर्गत धेमोमेन न्यू कॉलानी निवासी सह इसीएल कर्मी बलकार सिंह की तीन दिनों से लापता बेटी अमरप्रीत कौर (16) का शव सोमवार की देररात दो बजे पुलिस ने अपकार गार्डेन इलाके से बरामद किया.

इसकी सूचना मिलने के बाद आक्रोशित परिजनों ने मंगलवार को अस्पताल परिसर में भारी हंगामा किया. उनका आरोप था कि पहले तो पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से ही नहीं लिया. पिता के मोबाइल फोन पर फिरोती में 15 लाख रुपये मांगे जाने पर पुलिस रेस हुई और रात में ही शव बरामद कर लिया. परिजनों को कोई सूचना नहीं दी गयी. उन्होंने दोषी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने तथा हत्यारों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की.

advt

अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (सेंट्रल) शायक दास ने तीन दिनों के अंदर हत्यारों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया. इसके बाद परिजन पोस्टमार्टम के बाद शव अपने साथ ले गये. पुलिस इस मामले में तीन संदेही युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है.

इसे भी पढ़ें : NEWS WING IMPACT : खनन पदाधिकारी ने अगले आदेश तक क्रशर पर लगाया प्रतिबंध

क्या है पूरा मामला

मृतका के पिता बलकार सिंह ने बताया कि अमरप्रीत उनकी इकलौती बेटी थी. उसने संत एंथनी स्कूल से दसवीं की परीक्षा उत्तीर्ण की थी. 11वीं कक्षा में नामांकन होना था. इसके लिए वह चेलीडंगाल में ट्यूशन पढ़ने आती थी. बीते 10 अगस्त को वह तीन बजे घर से ट्यूशन पढ़ने के लिए आयी थी. ट्यूशन से लौटने के क्रम में बलतोडिया के पास वह बस से उतर गयी. वहां से वह न्यू टाउन स्थित तीन नंबर रोड गयी थी. इसके बाद उसका मोबाइल पोन ‘आउट ऑफ रीच’ हो गया. देर शाम तक जब वह घर नहीं पहुंची तो उन्होंने उसकी तलाश शुरू की. कोई सुराग नहीं मिलने पर उन्होंने आसनसोल साउथ थाना पीपी में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज करायी.

adv

इसे भी पढ़ें : विलय के बाद भी राज्य के सरकारी स्कूलों में 14 हजार शिक्षकों की कमी, RTE के आठ साल बाद ये हाल

पुलिस के स्तर से लगातार हुई लापरवाही

उन्होंने कहा कि बेटी की गुमशुदगी की शिकायत दर्ज करने के बाद भी पुलिस अधिकारियों ने इसे गंभीरता से नहीं लिया. वे अपने स्तर से लगातार खोज-खबर लगाते रहे तथा पुलिस अधिकारियों के भी संपर्क में रहे. लेकिन उन्हें हमेशा निराशा ही मिली.

बीते 12 अगस्त को अमरप्रीत के मोबाइल फोन से उनके मोबाइल फोन पर मैसेज आया कि यदि उन्होंने फिरौती में 15 लाख रुपये का भुगतान नहीं किया तो उनकी बेटी की हत्या कर दी जायेगी.

इसके बाद वे परेशान हो गये. उन्होने तत्काल फोन संदेश लेकर पुलिस अधिकारियों को सूचित किया. लेकिन ड्यूटी अधिकारी टाल-बहाना बनाते रहे. उन्हें कहा गया कि जो अधिकारी उनकी शिकायत की जांच कर रहे हैं वे छुट्टी पर हैं. उनके लौटने पर ही अगली कार्रवाई होगी.

उन्होंने कहा कि कुछ समय बाद सूचना मिली कि पुलिस ने चेलीडंगाल के कुछ लड़कों को हिरासत में लेकर पूछताछ की. इसके बाद ही अपराधियों ने उनकी बेटी की हत्या कर दी. यदि पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से लिया होता तो उनकी बेटी जीवित होती तथा उनके पास होती.

क्या कहना है पुलिस का

पुलिस अधिकारियों ने कहा कि पुलिस इस मामले में संदिग्ध युवकों से पूछताछ कर रही थी. सोमवार की रात सूचना मिली कि अपकार गार्डेन में युवती का शव पड़ा हुआ है. उसे बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया.

देर रात होने के कारण परिजनों को सुबह इसकी सूचना दी गयी. इसके बाद शिनाख्त हुई. पुलिस आयुक्त देवेंद्र प्रकाश सिंह ने कहा कि तीन संदिग्ध को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. संभावना है कि शीघ्र ही इस हत्या का खुलासा हो जायेगा.

इसे भी पढ़ें : गढ़वा : लाभुकों से अंगूठा लगवाकर मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना में फर्जी निकासी

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close