HEALTHPalamu

जिलास्तरीय योग प्रतियोगिता में बोले नामधारी- जीवन जीने की कला है योग

Palamu: झारखंड विधानसभा के प्रथम अध्यक्ष इंदर सिंह नामधारी ने कहा कि योग जीवन जीने की कला का नाम है. वो शनिवार को सदर प्रखंड के जमुने स्थित एमडीएन जीजीपीएस में आयोजित द्वितीय जिला स्तरीय योग प्रतियोगिता के उद्घाटन मौके पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे. इस मौके पर अन्य लोगों के अलावा पलामू योग एसोसिएशन के अध्यक्ष किशोर कुमार पांडेय, सचिव कमलानंद दुबे, बृजेन्द्र सिंह, संजय त्रिपाठी, अशोक सहानी, किशोर शुक्ला, राजेन्द्र प्रसाद सिंह, बाली सिंह सुशील तिवारी और अनिल कुमार पांडेय भी मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें- “सिंह मेंशन को टेंशन” देने में पहली बार उछला ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ का नाम

योग हमारी संस्कृति की प्राचीनतम पहचान है

ram janam hospital
Catalyst IAS

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए नामधारी ने कहा कि योग का मतलब बाबा या संन्यासी बनना नहीं है, बल्कि योग का आशय कर्मयोगी बनने से है. उन्होंने कहा कि आज की तेज रफ्तार जिन्दगी में हमारे आसपास ऐसे अनेक कारण मौजूद हैं. जो तनाव, थकान तथा चिड़चिड़ाहट को जन्म देते हैं. ऐसे में जिन्दगी को स्वस्थ तथा ऊर्जावान बनाये रखने के लिए योग एक ऐसी रामबाण दवा है, जो मानसिक शांति के साथ-साथ शारीरिक फिटनेस भी प्रदान करती है. साथ ही नामधारी ने कहा कि योग हमारी संस्कृति की प्राचीनतम पहचान है. संसार की प्रथम पुस्तक ऋगवेद में कई स्थानों पर योगिक क्रियाओं के विषय में उल्लेख मिलता है. भगवान शंकर के बाद वैदिक ऋषि-मुनियों से ही योग का प्रारंभ माना जाता है. बाद में कृष्ण , महावीर और बुद्ध ने इसे अपनी तरह से विस्तार दिया और इसके बाद पतंजलि ने इसे सुव्यवस्थित रूप दिया. उन्होंने कहा कि पतंजलि योग दर्शन के अनुसार-योगश्चित्त वृत्त निरोध अर्थात चित्त की वृत्तियों का निरोध ही योग है. नामधारी ने कहा कि हर किसी को योग का अनुसरण करना चाहिए.

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

इसे भी पढ़ें- ‘सरकार की कारगुजारियां उजागार करने वाले को देशद्रोही का तमगा देना बंद करें रघुवर सरकार’

प्रदूषित वातावरण में योग एक औषधि है

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री पांडेय ने कहा कि धर्म, आस्था और अंधविश्वास से परे एक सीधा विज्ञान है योग. योग से हम अपने जीवन को स्वस्थ और खुशहाल बना सकते हैं. आज के प्रदूषित वातावरण में योग एक ऐसी औषधि है, जिसका कोई साईड इफेक्ट नहीं है.
प्रतियोगिता के दौरान विभिन्न स्कूलों के प्रतिभागियों ने कई तरह के प्राणायाम और हैरतअंगेज आसन कर लोगों को चौकाया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं

Related Articles

Back to top button