न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सेना ने घुसपैठ करने वाले लश्कर के दो आतंकी पकड़े, चाय पिला कर पूछा, कैसी लगी चाय…

सेना की पूछताछ के दौरान दोनों ने कबूल किया है कि वह कश्मीर में बड़ी आतंकवादी घटनाओं को अंजाम देने के लिए लश्कर के समूह की मदद कर रहे थे

146

Srinagar : भारतीय सेना ने घुसपैठ करने वाले लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े दो आतंकियों को धर दबोचा है. साथ ही आतंकियों  के कबूलनामे का वीडियो जारी किया है.  दोनों को एलओसी पर बारामुला जिले के बोनियार सेक्टर से गिरफ्तार किया गया है. सेना की पूछताछ के दौरान दोनों ने कबूल किया है कि वह कश्मीर में बड़ी आतंकवादी घटनाओं को अंजाम देने के लिए लश्कर के समूह की मदद कर रहे थे. रात के समय पाकिस्तान भारत में आतंकवादियों को घुसपैठ करवा रहा है.

जान लें कि जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाये जाने के बाद से पाकिस्तान इस कदर तिलमिलाया हुआ है कि हर दिन घाटी में खुसपैठ की कोशिश कर रहा है.  इस संबंध में  सेना ने बुधवार को  घुसपैठ करने वाले दो आतंकियों का  वीडियो सार्वजनिक किया.  खबरों के अनुसार  दोनों आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े  हुए हैं.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

सेना की चिनार कॉर्प्स के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लो ने जानकारी दी कि पाकिस्तान कश्मीर घाटी में शांति खत्म करने के लिए ज्यादा से ज्यादा आंतिकयों की घुसपैठ कराने की कोशिश कर रहा है. जनरल केजेएस ढिल्लो  ने बताया कि 21 अगस्त को सेना  दो पाकिस्तान नागरिकों को पकड़ा है, जो लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े हुए हैं.

 जवाब था- चाय बहुत अच्छी लगी

सेना ने जिन दो आतंकियों का  वीडियो  दिखाया, उसमें वह कबूल कर रहे हैं कि वह पाकिस्तानी हैं और लश्कर से जुड़े रहे हैं. .   मोहम्मद अजीम नाम का आतंकी ने कहा कि वह पाकिस्तान के रावलपिंडी से आया है. वह लश्कर-ए-तैयबा के लिए काम कर रहा था.  बता दें कि सेना ने इस पाकिस्तानी आतंकी को पीने के लिए चाय भी दी थी. यह पूछे जाने पर  कि  चाय कैसी लगी?   उसका जवाब था- चाय बहुत अच्छी लगी.

पाकिस्तान के F-16 विमान मार गिराने वाले विंग कमांडर अभिनंदन को कैद करने के बाद पाक सेना के अधिकारी उनसे भी यही सवाल करते नजर आये थे. सेना का यह जवाब पाकिस्तान को उसकी स्टाइल में  दिया गया माना जा रहा है.

वीडियो में दूसरा आतंकी कह रहा है कि वह पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के गाजी आबाद शहर का रहने वाला है. सेना ने पत्रकारो से    घाटी में हिंसा की खबरों को लेकर कहा कि मीडिया को यह ध्यान देना चाहिए कि किसी भी व्यक्ति की मौत सुरक्षा बलों के चलते नहीं हुई है.  घाटी में किसी भी मौत के लिए सिर्फ आतंकी ही जिम्मेदार हैं या फिर पत्थरबाज.

इस क्रम में  ढिल्लो ने श्रीनगर में भर्ती रैली को संबोधित करते हुए कहा, मैं आप लोगों के बेहतर भविष्य की कामना करता हूं. मैं चाहता हूं कि आप खूब पढ़ें.  ड्रग्स और गन्स से दूर रहें.  अपनी पढ़ाई और भविष्य में ध्यान दें.

इसे भी पढ़ेंःदुनियाभर मंदी की आहटः एक दशक के सबसे निचले स्तर पर पहुंचा ऑस्ट्रेलियाई इकोनॉमी वृद्धि दर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like