JharkhandRanchiSaraikela

बहुचर्चित तबरेज प्रकरण से जुड़ा मामला, चोरी का मोबाइल ऑन होते ही पुलिस के हत्थे चढ़ा आरिफ अंसारी

पुलिस कर रही है आऱिफ से पूछताछ

Ranchi : सरायकेला-खरसावां जिले के बहुचर्चित तबरेज मामले में करीब डेढ़ वर्ष बाद नया अध्याय जुड़ गया है. जिले के धातकीडीह गांव में जिन मोबाइल की चोरी पर बवाल मचा था, उन मोबाइलों के साथ पुलिस ने खरसावां के कदमडीहा गांव निवासी आरिफ अंसारी को चोरी के मोबाइलों के साथ धर दबोचा है. पुलिस ने आरिफ से पूछताछ कर रही है.

बताया जा रहा है कि आरिफ अंसारी चोरी की मोबाइल खरीद-फरोख्त करता रहा है, और ऐसे मामलों में कई बार जेल भी जा चुका है. मालूम हो कि तबरेज मामले ने तब खूब तूल पकड़ा था. बात संसद तक पहुंच गई थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सफाई देने के लिए आगे आना पड़ा था.

सर्विलांस पर था दोनों मोबाइल

Catalyst IAS
ram janam hospital

17 जून 2019 को धातकीडीह गांव में घटी चोरी की घटना में गांव के हेमसागर प्रधान और राजेश प्रमाणिक के घर से दो मोबाइल के चोरी होने का मामला दर्ज कराया गया था. जिसके बाद से ही पुलिस ने दोनों मोबाइल का ईएमआई ट्रेसिंग करने को लेकर सर्विलांस पर रखा था. दो दिन पहले ही चोरी गए दोनों मोबाइलों के ऑन होते ही पुलिस ने आरिफ के घर पहुंच कर मोबाइल के साथ उसकी गिरफ्तारी की है.

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

देश भर में चर्चा में रहा था मामला

17 जून 2019 को सरायकेला थाना अंतर्गत धातकीडीह गांव में चोरी की घटना घटी थी. जिसमें ग्रामीणों ने मौके पर खदेड़ कर चोरी के एक आरोपी खरसावां के कदमडीहा निवासी तबरेज अंसारी को पकड़ा था, जबकि रात के अंधेरे का फायदा उठाकर उसके दो अन्य साथी मोहम्मद इरफान और नुमेर अली फरार होने में सफल रहे थे. ग्रामीणों ने तबरेज की पिटाई कर दी थी. बाद में पुलिस की हिरासत में तबरेज की मौत हो गई थी. तब मामले ने काफी तूल पड़का था. संसद तक मामला पहुंच गया था. आरोप-प्रत्यारोप का लंबा दौर चला था. माब लिंचिंग में तबरेज की मौत बताई गई थी. उस रात गांव के तीन घरों हेमसागर प्रधान, राजेश प्रमाणिक और कमल महतो के घरों में चोरी की घटना को अंजाम दिए जाने की बात बताई गई थी.

Related Articles

Back to top button