Main SliderOpinion

क्या लाखों डिसलाइक (अधिकांश यूपी-बिहार के) किसी बड़े आंदोलन के संकेत हैं?

विज्ञापन

Apoorv Bhardwaj

जब यह टिप्पणी लिख रहा हूं, तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात के वीडियो पर अब तक 6 लाख डिसलाइक हो चुके हैं. किसी वीडियो पर लाखों डिसलाइक होना कोई बड़ी बात नहीं है. वो सड़क-2 के वीडियो पर भी हो चुका है. लेकिन जब मैंने इस पूरी घटना का डाटा और ट्रेंड का विश्लेषण किया तो इसके रिजल्ट्स हैरान करने वाले थे.

इसे भी पढ़ें – मोदी काल में अर्थव्यवस्था गर्त में, पहली तिमाही की GDP -23.9 फीसदी, 40 साल में पहली बार गिरावट

advt

आप इन दो डाटा ग्राफ को देखें. एक ग्राफ में आपको मन की बात का 7 दिनों का विश्लेषण दिख रहा है. 30 अगस्त को अचानक इसमें एक स्पाइक दिख रहा होगा. जो 100  % रिस्पांस रेट को टच कर रहा है. यह एक आश्चर्यजनक आंकड़ा है, जो अच्छे से अच्छे विश्लेषक के मन में एक सवाल करता है. क्या यह ओर्गनिक सर्च है. यदि हां तो एक ऐसा अंडरकरंट चल रहा है, जिसे सरकार पहचान नहीं पा रही है. मेरे विश्लेषण में सरकार के विरुद्ध एक अजीब सा गुस्सा दिख रहा है क्या यह घटना एक एस्क्लेशन पॉइंट है?

इसे भी पढ़ें – पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का निधन, 84 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

adv

दूसरे ग्राफ में आपको भारत का नक्शा दिख रहा होगा. तो उसमें आपको जियोफेसिंग दिख रही होगी. पूरे देश में से सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश से रिस्पांस रेट सबसे ज्यादा है. मतलब पूरे काऊ बेल्ट में एक अजीब सा गुस्सा और उत्तेजना दिख रही है. जो सत्तारुढ़ पार्टी के लिए बहुत बुरी खबर है. जब मैंने कमेंट्स और प्रोफाइलस का विश्लेषण किया तो 83% युवा और छात्रों का रिस्पांस है. इसमें भी उत्तर प्रदेश और बिहार के छात्रों का प्रतिशत सबसे ज्यादा है तो क्या एक आंदोलन का संकेत है?

मैंने 15 जुलाई को ही इस बात को लेकर एक टिप्पणी की थी. आज इस ट्रेंड को देख कर फिर वहीं महसूस कर रहा हूं. इस देश में एक बड़ा युवा आंदोलन होनेवाला है. जो इस सरकार और सिस्टम को बदलने वाला होगा. कई बार डाटा आपको बहुत संकेत देता है. लेकिन हम इग्नोर कर जाते हैं. आप आश्चर्य मत कीजियेगा कि कल युवा सड़कों पर आकर आंदोलन करने लगें.

डिस्क्लेमर- ये लेखक के निजी विचार हैं.

इसे भी पढ़ें – अवमानना केस में फैसला: सीनियर वकील प्रशांत भूषण जमा करेंगे 1 रुपया

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button