न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

इतिहास के पन्नों में 14 अप्रैल : बाबा साहब अंबेडकर का जन्मदिन, अब्राहम लिंकन को मारी गोली

649

New Delhi : देश दुनिया के इतिहास में 14 अप्रैल के नाम पर कई ऐतिहासिक घटनाएं दर्ज हैं. यही वह दिन है जब देश के संविधान निर्माता डा. भीम अंबेडकर का जन्म हुआ था और आज ही के दिन अमेरिका के 16वें राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन को गोली मार दी गई थी.

लिंकन को उस समय वाशिंगटन के ‘फोर्ड थियटर’ में गोली मारी गई , जब वह ‘आवर अमेरिकन कज़िन’ नाटक देख रहे थे. बालकनी में बैठे लिंकन को रात करीब सवा दस बजे जॉन वाइक्स बूथ नाम के शख्स ने सिर पर पीछे से गोली मारी और वहां से भाग निकला.

जिसके बाद लिंकन का अगली सुबह निधन हो गया और उनके हत्यारे को घटना के दस दिन बाद अमेरिकी सैनिकों ने एक मुठभेड़ में मार गिराया.

इसे भी पढ़ें- चुनाव नतीजे घोषित होने के अगले ही दिन ही मायावती छोड़ देंगी अखिलेश का साथ : नरेश अग्रवाल

hotlips top

14 अप्रैल की तारीख पर दर्ज अन्य महत्वपूर्ण घटनाएं

1865 : अमेरिका के 16वें राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन को वाशिंगटन के ‘फोर्ड थिएटर’ में गोली मार दी गई. उन्होंने अगले दिन सुबह दम तोड़ दिया.

1891 : भारत के संविधान निर्माता बी आर अंबेडकर का जन्म. 1912 : ब्रिटेन का आलीशान पोत टाइटैनिक हिमखंड से टकराया.

1958 : सोवियत उपग्रह स्पूतनिक-2 अपने अंतरिक्ष अभियान के 162 दिन बाद नष्ट हुआ.

1970 : अमेरिकी अंतरिक्ष यान अपोलो 13 में धमाके के बाद गंभीर स्थिति पैदा हो गई. धरती से रवाना होने के 56 घंटे बाद हुए इस हादसे के कारण एक बार तो उसमें सवार तीन अंतरिक्ष यात्रियों की जान पर खतरा मंडराने लगा था, लेकिन फिर इसे ठीक कर लिया गया और यह सकुशल धरती पर वापस लौट आया.

इसे भी पढ़ें- चतरा संसदीय सीटः गठन के 60 साल बीते, नहीं बना आजतक कोई स्थानीय सांसद  

1988: सोवियत संघ ने अमेरिका, पाकिस्तान और अफ़गानिस्तान के साथ जिनेवा में एक समझौते पर हस्ताक्षर कर अफगानिस्तान से अपनी सेना की वापसी पर सहमति जताई.

2008 : भारत में कोलकाता और बांग्लादेश में ढाका के बीच 1965 के बाद पहली बार यात्री रेल सेवा की शुरुआत.

2010 : चीन के किगगाई में 6.9 तीव्रता का भूकंप. लगभग 2700 लोगों की मौत.

2014 : इस्लामी संगठन बोको हराम ने नाइजीरिया में चिबोक स्थित एक बोर्डिंग स्कूल से 275 लड़कियों का अपहरण कर लिया. इसकी दुनियाभर में भर्त्सना हुई.

2010 : आइसलैंड में ज्वालामुखी से आसमान में राख का ऐसा गुबार उठा कि उत्तरी और मध्य यूरोप में हवाई यातायात पर असर पड़ा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like