JharkhandRanchi

झारखंड में पहली बार आपदा प्रबंधन प्राधिकार के गठन को मिली मंजूरी

Ranchi: झारखंड में पहली बार आपदा प्रबंधन प्राधिकार का गठन हो रहा है. कैबिनेट से आपदा प्रबंधन प्राधिकार के गठन को मंजूरी मिल गयी है. मंजूरी मिलने के बाद इसके गठन से राज्य में आपदा से नुकसान होने पर उसकी भरपाई जल्द होगी. साथ ही प्राकृतिक आपदाओं से बचने के लिए लोगों को जागरूक किया जायेगा.

Jharkhand Rai

मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि झारखंड राज्य में बड़े-बड़े पहाड़ हैं और बादल नजदीक हैं. ऐसे में वज्रपात की ज्यादा संभावनाएं होती हैं, जिससे दुर्घटनाएं होती हैं. झारखंड में नदियों में बाढ़ आने से भी जान-माल का नुकसान होता है. नदी के तटीय इलाकों में बाढ़ का पानी कहर बनकर सामने आता है.

इतना ही नहीं, जंगल होने की वजह से इन इलाकों में सर्पदंश, हाथियों के आतंक समेत अन्य आपदा होने की संभावना ज्यादा होती है. ऐसी स्थिति में आपदा प्रबंधन प्राधिकार के माध्यम से जरूरी राहत कार्य किये जायेंगे.

इसे भी पढ़ें – Ranchi: रिम्स परिसर में ASI से 2 लाख छीनकर भागे अपराधी, बेटी की शादी के लिए निकाले थे रुपये

Samford

आपदा मित्र समेत अन्य माध्यमों से स्थानीय को मिलेगा रोजगार

मंत्री बन्ना गुप्ता ने बताया कि इसके बनने से स्थानीय स्तर पर रहने वाले लोगों को रोजगार मिलेगा. आपदा मित्र समेत अन्य माध्यमों से लोगों को रोजगार से जोड़ा जायेगा जिससे स्थानीय स्तर पर वोलेंटियर्स की बड़ी टीम तैयार की जायेगी.उन्हें वक्त पड़ने पर सहयोग के लिए काम पर लगाया जायेगा. बदले में उन्हें मानदेय का भुगतान किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें – ‘भारत मां की सुरक्षा में सरहद पर तैनात हैं दो-दो बेटे, गांव में खतरे में पिता की जान’

आपदा प्रबंधन प्राधिकार के अध्यक्ष होंगे मुख्यमंत्री

आपदा प्रबंधन प्राधिकार के अध्यक्ष मुख्यमंत्री होंगे, साथ ही विभागीय मंत्री इसके उपाध्यक्ष होंगे. इस प्राधिकार में मुख्य सचिव समेत चार विभाग के सचिव भी सदस्य होंगे. इसके लिए भी बाइलॉज तैयार किया जा चुका है.

ऐसे में राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकार के गठन से राज्य के कई क्षेत्रों में लाभ मिल सकेगा. साथ ही आपदा की स्थिति में राहत कार्य में भी तेजी लायी जा सकेगी.

इसे भी पढ़ें – बड़ा बदलाव : सीबीएसई ने 9वीं से 12वीं का सिलेबस 30 फीसदी किया कम, रिवाइज्ड सिलेबस किया जारी

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: