JharkhandRanchi

अगस्त में पूरी होगी प्रोन्नति प्रक्रिया, 700 से अधिक पदों पर होगी इंजीनियरों की नियुक्ति

Ranchi: पथ निर्माण विभाग के सचिव केके सोन ने सूचना भवन में मीडिया को बीते साढ़े साल की उपलब्धियां बतायीं. उन्होंने कहा कि विभाग ने पथ निर्माण की दिशा में कई महत्वपूर्ण कार्य किये हैं. हालांकि उन्होंने यह स्वीकार भी किया कि विभाग ने कुल बजट का 40.51 फीसदी राशि ही खर्च किया है. उन्होंने बताया कि साल 2014 से अब तक 5575 किलोमीटर सड़क निर्माण हुआ है. जबकि साल 2001 से 2014 तक 7939 किलोमीटर सड़क बनी थी. विभाग की ओर से औसतन 3.39 किलोमीटर सड़क का निर्माण प्रति दिन हुआ है.

इसे भी पढ़ें – SkyWay ग्रुप की गतिविधियों पर कई देशों में जारी हो चुकी है चेतावनी, अपने देश में फल-फूल रहा धंधा

पुलों का हुआ दोगुना निर्माण, बढ़ी सड़क की लंबाई

आंकड़े प्रस्तुत करते हुए विभागीय सचिव केके सोन ने बताया कि साल 2001 से 2014 तक में मात्र 147 उच्च स्तरीय पुल का निर्माण हो पाया था, जबकि वर्तमान सरकार ने केवल साढ़े चार साल में 122 उच्च स्तरीय पुलों का निर्माण कराया. इसके साथ-साथ राज्य की सड़कों की लंबाई भी बढ़ी है.

अगले चार माह में 1840 करोड़ रुपये की योजनाएं पूरी करने का लक्ष्य

कार्य योजना के संबंध में उन्होंने बताया कि अगले चार माह में कई योजनाएं हैं, जिन्हें पूरा करना है. इसके लिए 1840 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे. राज्य में नेशनल हाइवे की कुल लंबाई 3367 किलोमीटर है. जबकि इनकी कुल संख्या 30 है. राज्य के हिस्से में 2480 किलोमीटर नेशनल हाइवे आता है. वर्तमान में राज्य में नेशनल हाइवे की 9982 करोड़ की 18 योजनाएं चल रही हैं.

राज्य में होगा भारत माला परियोजना का तीसरा प्रोजेक्ट

उन्होंने बताया कि राज्य में भारत माला योजना के तहत दो प्रोजेक्ट हैं. जिसमें सड़क निर्माण होना है. पहला प्रोजेक्ट संबलपुर-रांची और दूसरा रायपुर-धनबाद है. राज्य सरकार की ओर से केंद्र सरकार को इसी परियोजना के तहत धमरा-साहेबगंज पथ निर्माण करने का प्रस्ताव रखा गया था. इस प्रस्ताव को केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है. इसके निर्माण की प्रक्रिया जल्द प्रारंभ होगी.

इसे भी पढ़ें – टाटा मोटर्स, टाटा कंमिस और टाटा हिताची में छंटनी के आसार, 12,000 कर्मचारियों पर गिर सकती है गाज

अगस्त में होगी प्रोन्नति प्रक्रिया पूरी

संवाददाताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि विभाग के अभियंताओं की प्रोन्नति को लेकर बीते 31 जुलाई को विकास आयुक्त के साथ बैठक हुई है. इस बैठक में निर्णय लिया गया है कि अगस्त माह में ही प्रोन्नति के काम को पूरा कर लिया जायेगा. इसमें कार्यपालक अभियंता को अधिक्षण अभियंता और अधिक्षण अभियंता को मुख्य अभियंता बनाने की प्रक्रिया पूरी होगी. इसके बाद सहायक अभियंता, कार्यपालक अभियंता, कनीय अभियंता और सहायक अभियंताओं को प्रोन्नति दी जायेगी.

जेपीएससी-जेएसएससी से 700 से अधिक पदों पर नियुक्ति

उन्होंने बताया कि विभाग जल्द ही जेपीएससी और जेएसएससी के माध्यम से नियुक्तियां करने जा रहा है. इसके लिए प्रस्ताव संबंधित नियुक्ति एजेंसी को भेज दिया गया है. सहायक अभियंता के रूप में पथ निर्माण विभाग में 228, जल संसाधन विभाग में 383 तथा पेयजल व स्वच्छता विभाग में 26 पदों पर बहाली होगी. वहीं कनीय अभियंता के पद पर सीधी नियुक्ति के तहत पथ निर्माण विभाग के कुल 237 रिक्त पद भरे जायेंगे.

इसे भी पढ़ें – अमरनाथ यात्रा पर आतंकी खतरा, सरकार ने एडवाइजरी जारी कर यात्रा रोकी, तीर्थयात्रियों से आग्रह, कश्मीर से लौट जायें

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close