Business

ऐपल एक ट्रिलियन डॉलर की कंपनी बनी, पाकिस्तान जैसे देश को अकेले ही खरीद सकती है

विज्ञापन

San Francisco : आईफोन बनाने वाली यह कंपनी ऐपल 177 देशों से भी ज्यादा अमीर हो गयी है. खबरों के अनुसार गुरुवार को ऐपल एक ट्रिलियन डॉलर (लगभग 68,620 अरब रुपये) की पहली लिस्टेड कंपनी बन गयी. वर्ल्ड बैंक के आंकड़ों के अनुसार दुनिया के 193 देशों में से सिर्फ 16 ही देश ऐसे हैं, जिनकी जीडीपी ऐपल की मार्केट कैप से ज्यादा है. बता दें कि ऐपल कंपनी के आकार का अंदाजा इस बात से ही लगा सकते हैं कि यह कंपनी भारतीय अर्थव्यवस्था की 38 फीसदी है. बता दें कि भारत हाल में लगभग 2.6 ट्रिलियन डॉलर की जीडीपी के साथ फ्रांस को पीछे छोड़ दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश बना था.

इसे भी पढ़ेंः भारत में बेरोजगारी दर 3.5 प्रतिशत व 77 प्रतिशत रोजगार असुरक्षित बने रहेंगे : आइएलओ

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड और टीसीएस से 10 गुना बड़ी कंपनी है एपल

जान लें कि कंपनी चाहे तो लगभग तीन अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था वाले पाकिस्तान जैसे देश को अकेले ही खरीद सकती है. ऐपल भारत की दो सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड और टीसीएस से करीब 10 गुना बड़ी कंपनी है. ऐपल कंपनी की वैल्यू इस समय करीब-करीब इंडोनेशिया की जीडीपी के बराबर है. ऐपल ने मंगलवार को ही अपने नतीजों का ऐलान किया था. ऐपल का स्टॉक 2.8 प्रतिशत ऊपर उठा, जिसके बाद इसमें मंगलवार से अब तक 9 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हुई. बुधवार को ऐपल के शेयर में 6% तेजी आयी. इसके बाद गुरुवार को कुछ गिरावट आयी, लेकिन ऐसा ज्यादा देर नहीं रहा और तेजी लौटी

इसे भी पढ़ेंःपूर्व CJI ने दी लिटिगेशन पॉलिसी बनाने की सलाह, मॉब लिंचिंग को बताया कानून की विफलता

advt

. इससे पूर्व शंघाई के शेयर बाजार में पेट्रोचाइना का मार्केट वैल्युएशन इस स्तर तक पहुंचा था. ऐसे में एक ट्रिलियन डॉलर तक पहुंचने वाली कंपनियों में ऐपल अमेरिका पहली और दुनिया की दूसरी कंपनी है. 1980 में लिस्टेड कंपनी बनने के बाद से अब तक ऐपल ने 50 हजार प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button