न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

साथी जवान को बचाने में शहीद हुआ पलामू का सपूत अनुराग शुक्ला

1,849

Palamu: पलामू के जांबाज सपूत अनुराग शुक्ला पानी में डूबते अपने साथी जवान की जान बचाने में शहीद हो गये. अनुराग सेना में लेफ्टिनेंट अधिकारी थे और राजस्थान के गंगापुर में पोस्टेड थे.

साथी जवान को बचाने में गयी जान

खबर है कि 19 अप्रैल की दोपहर में तैराकी अभ्यास के दौरान सेना का एक जवान डिग्गी में उतरा और डूबने लगा. उसे बचाने गए लेफ्टिनेंट अनुराग शुक्ला ने जवान को तो सकुशल बचा लिया, लेकिन खुद डूब गए.

hosp3

इसे भी पढ़ेंःबागी विधायक जेपी पटेल झामुमो को जल्द कहेंगे बाय-बाय, थामेंगे आजसू का दामन

प्रशिक्षण के बाद अनुराग शुक्ला की सेना में लेफ्टिनेंट के पद पर यह पहली पोस्टिंग थी. छह माह से वे घर नहीं आए थे. उनका पैतृक गांव जिला मुख्यालय मेदिनीनगर के सिंगरा में है, लेकिन उनके परिवार के कुछ सदस्य रांची में रहते हैं. पलामू सदर थाना क्षेत्र के सिंगरा निवासी जीतू शुक्ला के एकलौता पुत्र थे शहीद अनुराग शुक्ला.

जवान को दी नयी जिंदगी

बताया जा रहा है कि शुक्रवार की दोपहर करीब 2.30 बजे राइफलमैन सर्वजीत सिंह (निवासी बदरा, अबोहर-पंजाब) तैराकी अभ्यास के लिए डिग्गी में उतरा.

जब वह डूबने लगा तो उसे बचाने के लिए मौके पर मौजूद सैन्य अधिकारी लेफ्टिनेंट अनुराग शुक्ला (23 वर्ष) ने छलांग लगा दी. काफी मशक्कत के बाद उन्होंने जवान को पानी से बाहर कर दिया, लेकिन खुद को बचा नहीं सके.

बेहोशी की हालत में निकाले गए

काफी देर तक जब अनुराग शुक्ला पानी से बाहर नहीं आए तो साथी जवानों ने उनकी तलाश शुरू की. करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद लेफ्टिनेंट अनुराग शुक्ला को बाहर निकाला जा सका.

इसे भी पढ़ेंःजेएमएम प्रत्याशी जगरनाथ महतो ने गिरिडीह सीट से भरा पर्चा, महागठबंधन के साथी रहे नदारद

बेहोशी की हालत में उन्हें इलाज के लिए गजसिंहपुर राजकीय अस्पताल में ले जाया गया. जहां शाम करीब पांच बजे चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. राजस्थान पुलिस ने जानकारी दी कि मामले में सेना की बटालियन (जेएंडके) के मेजर अशोक चैहान की ओर से मर्ग दर्ज कार्रवाई की गयी.

पार्थिव शव लेने परिजन राजस्थान रवाना

घटना की सूचना मिलने पर अनुराग के परिजनों में कोहराम मच गया है. माता-पिता के अलावा परिवार के अन्य सदस्यों का रो-रो कर बुरा हाल है.

परिवारिक सूत्रों के अनुसार, लेफ्टिनेंट अनुराग शुक्ला के पार्थिव शरीर लेने के लिए उनके पिता जीतेंद्र शुक्ला के अलावा भाजपा नेता डॉ अमित प्रकाश उपाध्याय राजस्थान के गंगापुर के लिए रवाना हो गए हैं.

भाजपा नेता डा. उपाध्याय अनुराग के मौसा हैं. अनुराग अपने माता-पिता के इकलौते पुत्र थे. आज रात दस बजे तक परिजन गंगापुर पहुंच जायेंगे. 21 अप्रैल की सुबह अनुराग का पोस्टमार्टम होगा. उसके बाद पार्थिव शरीर उसी दिन शाम तक रांची पहुंचेगा.

रांची में आरोग्य हाउसिंग कॉलोनी में अनुराग का परिवार रहता है. हालांकि, शहीद अनुराग का पैतृक गांव पलामू जिला मुख्यालय मेदिनीनगर के सिंगरा में है. 22 अप्रैल को अनुराग का पार्थिव शरीर सिंगरा स्थित पैतृक आवास पर लाया जायेगा. यहां सिंगरा में उनका अंतिम संस्कार किया जायेगा.

इसे भी पढ़ेंःजेएमएम प्रत्याशी जगरनाथ महतो ने गिरिडीह सीट से भरा पर्चा, महागठबंधन के साथी रहे नदारद

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: