Education & CareerRanchi

अनुराधा बनी रांची महिला कॉलेज की एबीवीपी इकाई की नई अध्‍यक्ष

Ranchi: अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् की ओर से रांची महिला कॉलेज में इकाई पुर्नगठन किया गया. इस नई ईकाई के लिए अनुराधा विश्‍वकर्मा को अध्‍यक्ष चुना गया. कार्यक्रम की शुरूआत मां सरस्वती और स्वामी विवेकानंद की तस्वीर पर माल्यापर्ण कर की गयी. मौके पर मुख्य रूप से अभाविप की रांची महानगर विस्तारिका अनुराधा पांडेय उपस्थित थी.

विद्यार्थियों को परिषद् की जानकारी देते हुए सुश्री पांडेय ने कहा कि परिषद् व्यक्तिवादी संगठन नहीं है, बल्कि राष्ट्रवादी विचारधारा को लेकर चलने वाली सामूहिक छात्र संगठन है. शायद यही कारण है कि पूर्व से ही अभाविप विद्यार्थियों के बीच काफी विख्यात है. उन्होंने कहा कि संगठन विद्यार्थियों के हित में काम करती है, जो अपने स्थापना से ही लगातार छात्र हित की ओर अग्रसर है. आने वाले समय में भी संगठन छात्र हित में कार्य करते रहेगा. कॉलेज में संगठन के इकाई गठन से विद्यार्थियों को काफी सहायता मिलती है. विशेषकर बाहर से आने वाले विद्यार्थियों को छात्र संगठनों से सहायता मिलती है. इस दौरान पुरानी इकाई को भंग करते हुए नयी इकाई का गठन किया गया.

इसे भी पढ़ें: अल्बर्ट एक्का चौक बना रणक्षेत्र, एबीवीपी व माले कार्यकर्ताओं के बीच हुई मारपीट

ram janam hospital
Catalyst IAS

अपने हक को पहचानें: अनुराधा

The Royal’s
Sanjeevani

नवनिवार्चित अध्यक्ष अनुराधा विश्वकर्मा ने इस दौरान कहा कि वर्तमान समय में भले की युवतियां शिक्षित हो रही हैं, फिर भी अपने हक के लिए आवाज उठाना नहीं चाहती हैं. ऐसे में युवतियों को चाहिए कि शिक्षित होने के साथ अपने अधिकारों को पहचानें. उन्होंने ने कहा कि गांवों से आने वाली छात्राएं अपने अधिकारों के प्रति असंवेदनशील रहती हैं, ऐसे में परिषद् की ओर से ऐसी विद्यार्थियों को सजग किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें: इरगुटोली मामला : SSP के आश्वासन के बाद धरना से उठे मंत्री सीपी सिंह

रांची महिला कॉलेज में एबीवीपी की चयनित नई इकाई

इकाई गठन में कॉलेज अध्यक्ष अनुराधा विश्वकर्मा, उपाध्यक्ष सुषमा महतो, कॉलेज मंत्री मधु प्रिया, सह मंत्री करिश्मा तिर्की, मधुलिका पांडेय, सुधा तिर्की, छात्रा प्रमुख पूजा उरांव,  सह छात्रा प्रमुख सुनीता सोरेन, कॉलेज कार्यकारिणी सदस्य उमा कुमारी, अंशु कुमारी, अमृता, ज्योति कुमारी, भूमिका दत्ता आदि को कार्यभार दिया गया.

Related Articles

Back to top button