National

#EconomicSlowdown के बीच एक और बुरी खबर, एक महीने में कम हुईं 1.49 लाख नौकरियां

New Delhi: एक तरफ जहां देश में आर्थिक मंदी का असर देखने को मिल रहा तो वहीं दूसरी तरफ रोजगार के मोर्चे पर भी अच्छी खबरें नहीं आ रही हैं.

हाल ही में आयी एक रिपोर्ट के अनुसार देश में जुलाई माह से अगस्त के बीच ही करीब 1.49 लाख नौकरियां घट गयी हैं.

इसे भी पढ़ें – 12 विधानसभा सीटें जो बनेंगी बीजेपी लिए सिरदर्द, 2014 चुनाव के नंबर वन और टू हो चुके हैं भाजपाई

अगस्त माह में घटी नौकरियां

Sanjeevani

कर्मचारी राज्य बीमा निगम के पेरोल डाटा के अनुसार, इस साल जुलाई माह में करीब 14.49 लाख नयी नौकरियां पैदा हुईं. जबकि अगस्त माह में यह आंकड़ा घट कर 13 लाख पर आ गया है.

राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO) की रिपोर्ट के अनुसार, वित्तीय वर्ष 2018-19 के दौरान ESIC में 1.49 करोड़ लोगों का पंजीकरण हुआ.

रिपोर्ट में कहा गया है कि सितंबर, 2017 से अगस्त 2019 के बीच करीब 2.97 करोड़ नये सब्सक्राइबर्स ESIC योजना में शामिल हुए हैं. NSO की यह रिपोर्ट विभिन्न सामाजिक सुरक्षा योजनाओं को ध्यान में रख कर तैयार की गयी है.

पेरोल डाटा का किया गया अध्ययन

जिनमें ESIC, EPFO और PFRDA (Pension Fund Regulatory and Development Authority) के पेरोल डाटा का अध्ययन किया गया है.

इसे भी पढ़ें – ओडिशा के प्रधान सचिव ने विभागों को किया सचेत, कहा- बैंकों में अपनी जिम्मेदारी पर रखें पैसा  

बिजनेस टुडे की एक खबर के अनुसार, रिपोर्ट में बताया गया है कि ESIC में सितंबर, 2017 से लेकर मार्च, 2018 तक 83.35 लाख नये पंजीकरण हुए हैं.

वहीं EPFO में यह आंकड़ा बीते अगस्त में 10.86 लाख रहा, जो कि इससे पहले जुलाई में 11.71 लाख था. इन आंकड़ों को देखने पर सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि देश में नौकरियां घट रही हैं.

हालांकि रिपोर्ट में कहा गया है कि नए सब्सक्राइबर्स की संख्या ओवरलैप कर सकती है और यह अनुमान के आधार पर है.

NSO ने कहा कि मौजूदा रिपोर्ट देश के औपचारिक सेक्टर में नौकरियों के बारे में अलग-अलग दृष्टिकोण पेश करता है और समग्र तौर पर रोजगार के आंकड़ों को नहीं मापता.

इसे भी पढ़ें – #Haryana : रविवार को #ManoharlalKhattar मुख्यमंत्री, दुष्यंत चौटाला उपमुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे

Related Articles

Back to top button