BusinessHEALTHLead NewsNational

वित्त मंत्री का एलान, कोरोना प्रभावित सेक्टर के लिए 1.1 लाख करोड़ की लोन गारंटी

स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए भी 50 हजार करोड़ रुपये के राहत की घोषणा

New Delhi : कोरोना की दूसरी लहर के चलते बेपटरी हुई देश की अर्थव्यवस्था में नई जान फूंकने के मकसद के केन्द्र सरकार की तरफ से कई तरह के राहत का सोमवार को ऐलान किया गया. केन्द्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कोविड प्रभावित सेक्टर के लिए 1.1 लाख करोड़ रुपये की लोन गारंटी की घोषणा की है. इसके साथ ही, स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए 50 हजार करोड़ रुपये के राहत का ऐलान किया गया.

इसे भी पढ़ें :SBI,Canara, syndicate bank कस्‍टमर ध्यान दें, 1 July  से बदलेंगे नियम, जानें क्या होगा असर

अन्य क्षेत्र के लिए 60 हजार करोड़ रुपये

स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़ा एक राहत पैकेज दिया जा रहा है. इस राहत पैकेज के मेडिकल सेक्टर को लोन गारंटी दी जाएगी. स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए 50 हजार करोड़ रुपए और अन्य क्षेत्र के लिए 60 हजार करोड़ रुपए का ऐलान किया गया है. इसके तहत 100 करोड़ तक का लोन 7.95 फीसद ब्याज पर दिया जाएगा. जबकि अन्य क्षेत्रों के लिए ब्याज दर 8.25% से ज्यादा नहीं होगी.

केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऐलान करते हुए कहा कि 3 साल के लिए क्रेडिट गारंटी योजना है. छोटे उधारदाताओं को लोन की सुविधा दी जाएगी. 11 हजार टूरिस्ट गाइड को मदद दी जाएगी. पहले 5 लाख पर्यटकों को वीजा शुल्क नहीं देना होगा.

इसे भी पढ़ें :ICC टी20 विश्व कप का आयोजन भारत में नहीं होगा, जानिये किस देश में शिफ्ट हुआ टूर्नामेंट 

छोटे कारोबारी 1.25 लाख रुपये तक का लोन ले पाएंगे

क्रेडिट गारंटी स्कीम के तहत छोटे कारोबारी, इंडिविजुअल NBFC माइक्रो फाइनेंस इंस्टीट्यूट से 1.25 लाख रुपये तक का लोन ले पाएंगे. इसका मुख्य मकसद नए ऋण का वितरण करना है. हालांकि, इस पर बैंक के MCLR पर अधिकतम 2 फीसदी ब्याज जोड़कर लिया जा सकेगा. इस लोन की अवधि 3 साल होगी और सरकार गारंटी देगी. इस योजना का लाभ करीब 25 लाख लोगों को मिलेगा. इसके साथ ही, 89 दिन के डिफॉल्टर समेत सभी प्रकार के उधार लेने वाले इसके लिए योग्य होंगे.

इसे भी पढ़ें :मुसहरों की पिटाई मामले में हुई गिरफ्तारी, हत्या का आरोपी भी गिरफ्तार

 

Related Articles

Back to top button