न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बोकारो थर्मलः डॉक्टर के रवैये से नाराज मजदूरों ने डीवीसी अस्पताल में किया बवाल, सीआइएसएफ को बुलाना पड़ा

1,554

Sanjay

Bermo:  बेरमो अनुमंडल के बोकारो थर्मल स्थित डीवीसी अस्पताल में इलाज के लिए दाखिल सप्लाई मजदूर के मामले में डॉक्टर के रवैये से नाराज मजदूरों ने मंगलवार को हंगामा किया. मामले को बिगड़ता देख अस्पताल के डिप्टी सीएमओ डॉ आर भट्टाचार्य को सीआइएसएफ को बुलाना पड़ा. सीआइएसएफ के इंस्पेक्टर संदीप कुमार के साथ आये जवानों ने मामले को बिगड़ने से संभाला.

इसे भी पढ़ेंः दिल्ली पहुंचे ममता के करीबी शोभन चटर्जी, थामेंगे भाजपा का दामन

क्या है पूरा मामला

सोमवार की रात्रि डीवीसी के स्थानीय पावर प्लांट के 17 नंबर बंकर में दो सप्लाई मजदूर पेंक निवासी रामचंद्र महतो तथा निशन हाट निवासी जसीम अंसारी रात्रि पाली में डयूटी पर थे. रात्रि लगभग दो बजे रामचंद्र महतो को दिल का दौरा पड़ा और वह बेहोश हो गया. दूसरे सप्लाई मजदूर जसीम अंसारी ने उनका प्राथमिक उपचार किया. इससे रामचंद्र को होश आ गया. इसके बाद उनको डीवीसी अस्पताल लाया गया.

अस्पताल के इनडोर में रात्रि पाली में तैनात डॉक्टर ने रामचंद्र को भर्ती करने से इंकार कर दिया. रामचंद्र के साथ आये जसीम अंसारी, जानकी महतो, रमेश सहित अन्य मजदूरों ने अस्पताल के डिप्टी सीएमओ को इसकी जानकारी दी. डिप्टी सीएमओ के हस्तक्षेप के बाद रामचंद्र को भर्ती कर लिया गया, लेकिन इलाज शुरू नहीं हो सका.

Related Posts

धनबाद : कासा सोसाइटी में बिजली मिस्त्री की मौत, मामला संदेहास्पद

सोसाइटी के लोगों का कहना है कि यह महज एक दुर्घटना नहीं है, बल्कि बिजली मिस्त्री की हत्या की गयी है.

SMILE

इसे भी पढ़ेंः अलकतरा घोटालाः जेल में बंद पूर्व मंत्री इलियास हुसैन की अपील याचिका हाइकोर्ट ने की खारिज

दबाव के बाद अस्पताल ने किया रेफर

मंगलवार की सुबह मामले की जानकारी पाकर दिलीप राय, ललन चैधरी, रज्जाक अंसारी, गणेश राम, तरुण गुप्ता आदि पहुंचे तथा रामचंद्र को बाहर रेफर करने की मांग करने लगे. अस्पताल आये मजदूरों एवं उनके प्रतिनिधियों से डॉक्टर उलझ गये.

स्थिति को बिगड़ता देख डिप्टी सीएमओ ने सीआइएसएफ को बुला लिया. सूचना पाकर डीवीसी के एसई मृत्युंजय प्रसाद, हमीद अंसारी भी अस्पताल पहुंच गये. बाद में सभी मजदूरों एवं प्रतिनिधियों ने डॉक्टर के रवैये से उनको अवगत करवाया. इसके बाद रामचंद्र को बेहतर इलाज के लिए रांची रेफर किया गया.

इसे भी पढ़ेंः सारदा घोटाले में ममता के करीबी प्रसन्ना, पांजा को सीबीआइ का नोटिस

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: