न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अमित शाह ने कहा, #CAA वापस नहीं होने वाला, जिसे विरोध करना हो करे, विपक्षी दलों को बहस की चुनौती दी 

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने संशोधित नागरिकता कानून (CAA) का विरोध कर रहे विपक्ष की आंखों पर वोट बैंक की पट्टी बंधी होने का आरोप लगाया

109

Lucknow : केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने संशोधित नागरिकता कानून (CAA) का विरोध कर रहे विपक्ष की आंखों पर वोट बैंक की पट्टी बंधी होने का आरोप लगाते हुए मंगलवार को साफ किया कि जिसको विरोध करना हो करे, मगर CAA वापस नहीं होने वाला है.

इसे भी पढ़ें : #PM_Modi की परीक्षा पे चर्चा कांग्रेस को रास नहीं आयी, कपिल सिब्बल ने राजनीतिक तिकड़म करार दिया

Aqua Spa Salon 5/02/2020

CAAनागरिकता छीनने का नहीं बल्कि देने का कानून है

शाह ने CAA के समर्थन में यहां आयोजित जागरुकता रैली में कहा कि CAA नागरिकता छीनने का नहीं बल्कि देने का कानून है, मगर कांग्रेस और सपा समेत विपक्षी दल इसका विरोध कर रहे हैं, क्योंकि उनकी आंखों पर वोट बैंक की पट्टी बंधी है. उन्होंने कहा जिसको विरोध करना हो करे, मगर CAA वापस नहीं होने वाला है.

इसे भी पढ़ें :#CAA_Protest: लखनऊ में शायर मुनव्वर राना की बेटियों समेत 160 महिलाओं पर मुकदमा

शाह ने विपक्षी दलों को CAA पर बहस की चुनौती भी दी

शाह ने विपक्षी दलों को CAA पर बहस की चुनौती भी दी. उन्होंने कहा CAA के खिलाफ प्रचार किया जा रहा है कि इससे देश के मुसलमानों की नागरिकता चली जायेगी. मैं कहने आया हूं कि जिसमें भी हिम्मत है वह इस पर चर्चा करने के लिए सार्वजनिक मंच ढूंढ ले. हम चर्चा करने के लिये तैयार हैं.

देश में दंगा और धरना—प्रदर्शन कराया जा रहा है

शाह ने कहा कि CAA की कोई भी धारा किसी भी नागरिक की नागरिकता लेती हो तो बता दें. उन्होंने कहा कि आज देश में इसके खिलाफ दंगा और धरना—प्रदर्शन कराया जा रहा है जो गलत है. गृह मंत्री ने कहा कि भाजपा का CAA के प्रति जनजागरण का अभियान इस कानून के खिलाफ दुष्प्रचार करके देश को तोड़ने की साजिश रचने वालों के खिलाफ मुहिम है.  उन्होंने इस मौके पर जो बोले सो निहाल का नारा भी लगवाया.

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

कश्मीर से पांच लाख पंडितों को विस्थापित किया गया

गृह मंत्री ने CAA का विरोध करने वाली कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों से पूछा, जब पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में करोड़ों लोग धर्म के आधार पर मारे गये तब आप कहां थे. कश्मीर से पांच लाख पंडितों को विस्थापित किया गया, मगर इन दलों के मुंह से एक शब्द नहीं निकला.

आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वर्षों से प्रताड़ित लोगों को अपने जीवन का नया अध्याय शुरू करने का मौका दिया है. शाह ने अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को अपनी सरकार की उपलब्धि बताते हुए दावा किया कि अयोध्या में तीन महीने के अंदर आसमान छूता हुआ मंदिर बनेगा.

इसे भी पढ़ें : #Indian_Billionaires के पास देश के कुल बजट से भी अधिक संपत्ति : Time to care  study

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like