न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अमित शाह ने शुरू की ‘मेरा परिवार, भाजपा परिवार’ अभियान, पांच करोड़ लोग फहरायेंगे पार्टी ध्वज

मकसद लोकसभा चुनाव की घोषणा से पूर्व पांच करोड़ घरों पर पार्टी का ध्वज फहराना है.

34

New Delhi :  भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को गुजरात में अपने आवास से ‘मेरा परिवार, भाजपा परिवार’ नाम  की महत्वाकांक्षी अभियान की शुरूआत की. जिसका मकसद लोकसभा चुनाव की घोषणा से पूर्व पांच करोड़ घरों पर पार्टी का ध्वज फहराना है. यह अभियान दो मार्च तक चलेगा जिसके तहत भाजपा ने देशभर में पार्टी कार्यकर्ताओं एवं समर्थकों के पांच करोड़ घरों पर पार्टी ध्वज फहराने का लक्ष्य रखा है.

भाजपा सरकार बनाने के लिए मोदी जी के साथ खड़े हों

शाह ने इस अभियान की शुरूआत करते हुए पार्टी समर्थकों से कहा कि 12 फरवरी से ‘मेरा परिवार भाजपा परिवार’ अभियान शुरू हुआ है. इसके अंतर्गत अपने घर पर भाजपा का झंडा और स्टीकर लगाकर, 2019 में फिर से भाजपा सरकार बनाने के लिए मोदी जी के साथ मजबूती से खड़े हों. उन्होंने कहा कि देशभर में 5 करोड़ से ज्यादा कार्यकर्ता अपने घर पर भाजपा का झंडा फहराके प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को अपना समर्थन देने वाले हैं. 2014- 2019 तक हमने लोकतंत्र को मजबूत बनाने, संगठन को मजबूत करने, पार्टी की विचारधारा की स्वीकृति बढ़ाने का सफल प्रयास किया है. इन सबका यही मतलब है कि 2019 में नरेन्द्र मोदी को फिर से देश का प्रधानमंत्री बनाना है.

hosp1

अभियान के माध्यम से हम 20 करोड़ लोगों से जुड़ सकेंगे

भाजपा सूत्रों ने बताया कि यह लोकसभा चुनाव से पहले कार्यकर्ताओं एवं समर्थकों में ऊर्जा भरने का प्रयास है. उनका कहना था कि अगर एक परिवार में चार सदस्य मान लें तब इस अभियान के माध्यम से हम 20 करोड़ लोगों से जुड़ सकेंगे. पार्टी मोदी सरकार की जन कल्याण योजनाओं-जनधन खाता, स्वच्छ भारत, मुद्रा लोन योजना, उज्ज्वला रसोई गैस योजना, इंद्रधनुष टीकाकरण अभियान, बिजली पहुंचाने की योजना के माध्यम से इसके लाभार्थियों तक पहुंचेगी. इसके अलावा शाह ने कहा कि पार्टी के एक नेता ने बताया कि साल 2014 के चुनाव में भाजपा को 17 करोड़ वोट प्राप्त हुए थे . अब हमारे पास 9.5 करोड़ सदस्यों का ब्यौरा है. जन धन बैंक खाता के कई करोड़ लाभार्थी हैं, मुद्रा योजना के सात करोड़ और उज्ज्वला योजना के छह करोड़ लाभार्थी हैं. हमारा प्रयास इन सभी तक पहुंच बनाना और इन्हें जोड़ना है.

इसे भी पढ़ें – सरयू राय यूं ही नहीं हैं व्यथित, भ्रष्टाचार के आरोपों पर सरकार व पार्टी दोनों का चुप रहना संदिग्ध

इसे भी पढ़ें – राजस्व और इंजीनियर की कमी से जूझ रहा RRDA, योजनाओं की प्लानिंग व मॉनिटरिंग प्रभावित

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: