Lead NewsMain SliderNationalWorld

अमेरिका : शपथ लेते ही जो बाइडन ने बदला डोनाल्ड ट्रंप का फैसला

पेरिस जलवायु परिवर्तन समझौते में फिर शामिल होगा अमेरिका

New delhi : अमेरिका के नव निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन ने शपथ ग्रहण के साथ ही पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के फैसलों को बदलना शुरू कर दिया है. हालांकि, इसकी उम्मीद पहले से थी कि बाइडन ट्रंप द्वारा लिए गये कुछ चर्चित फैसलों को वापस लेंगे. इसकी शुरुआत जयवायु परिवर्तन से जुड़े फैसले से की है. बाइडन ने एलान किया है कि अमेरिका अंतरराष्ट्रीय पेरिस जलवायु समझौते में फिर से शामिल होगा.

 

मालूम हो कि अमेरिका भी जलवायु समझौते में शामिल थे. अमेरिका की ओर से वर्ष 2015 में पेरिस समझौते में शामिल होने का हस्ताक्षर किया गया था. राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने इससे बाहर होने की घोषणा कर की थी. जिससे वैश्विक स्तर पर हैरानी हुई थी. इस फैसले की आलोचना भी हुई थी. माना जा रहा कि बाइडन ट्रंप के कई अन्य फैसलों को पलट सकता है.

इसे भी पढ़ेंः BE ALERT (पार्ट टू) :  इस तरह सुरक्षित रखें अपने क्रेडिट और डेबिट कार्ड का ओटीपी

राष्ट्रपति बनते ही बुधवार को जो बाइडेन ने पेरिस जलवायु समझौते में अमेरिका को फिर से शामिल करने के लिए एक आदेश पर हस्ताक्षर कर दिए. बताया जा रहा है कि जलवायु परिवर्तन सुरक्षा को कमजोर करने वाले पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कार्यों की समीक्षा करने के लिए एक आदेश भी तत्‍काल प्रभाव से शामिल किया जाएगा. बाइडन का कहना है कि हम एक तरह से जलवायु परिवर्तन का मुकाबला करने जा रहे हैं, जो हमने अब तक नहीं किया गया.

 

मालूम हो कि फ्रांस की राजधानी पेरिस में 12 दिसंबर 2015 को 196 देशों के प्रतिनिधियों ने पेरिस जलवायु समझौते के मसौदे पर सहमति जताते हुए, समझौते पर हस्ताक्षर किया था. करीब एक साल बाद 3 नवंबर 2016 को अमेरिका ने राष्ट्रपति बराक ओबामा के प्रशासन के दौरान पेरिस समझौते को स्वीकार किया गया था. इसके बाद राष्ट्रपति ट्रंप के प्रशासन की ओर से अगस्त 2017 में औपचारिक रूप से इस समझौते से बाहर होने की बात कही गई थी. भारत ने अप्रैल 2016 में औपचारिक रूप से पेरिस समझौते पर हस्ताक्षर किये थे. पेरिस जलवायु समझौते के तहत भारत ने वादा किया था कि वह 2030 तक अपने कार्बन उत्सर्जन में 33 से 35 प्रतिशत की कमी लाएगा.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: