न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

अमेरिका : भारतीय मूल की चार महिलाएं टेक्नोलॉजी क्षेत्र की टॉप 50 महिलाओं में शामिल

महिलाएं भविष्य का इंतजार नहीं करती. शीर्ष 50 महिलाओं की प्रारंभिक सूची में तीन पीढ़ियों का प्रतिनिधित्व दिखता है जो एक दशक से भी अधिक समय से दुनियाभर में तकनीक के क्षेत्र में आगे हैं.

37

Washington : फोर्ब्स द्वारा अमेरिका में टेक्नोलॉजी क्षेत्र की दिग्गज 50 महिलाओं की सूची में चार भारतीय मूल की महिलाएं शामिल हैं. खबरों के अनुसार सूची में आईबीएम की मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिनी रोमेटी और नेटफ्लिक्स की कार्यकारी एनी एरोन, सिस्को की पूर्व चीफ टेक्नोलॉजी अधिकारी पद्मश्री वारियर, उबर की वरिष्ठ निदेशक कोमल मंगतानी, कोंफ्लूएंट की सह-संस्थापक और मुख्य तकनीकी अधिकारी नेहा नारखेड़े, पहचान प्रबंधन कंपनी ड्राब्रिज की संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी कामाक्षी शिवराम कृष्णन शामिल हैं. अमेरिका की 2018 में टेक्नोलॉजी क्षेत्र की शीर्ष 50 महिलाओं की सूची में फोर्ब्स ने कहा है कि महिलाएं भविष्य का इंतजार नहीं करती. बता दें कि टेक्नोलॉजी में 2018 की शीर्ष 50 महिलाओं की प्रारंभिक सूची में तीन पीढ़ियों का प्रतिनिधित्व दिखता है जो एक दशक से भी अधिक समय से दुनियाभर में तकनीक के क्षेत्र में आगे हैं. वारियर ने मोटोरोला और सिस्को दोनों में अहम भूमिका निभाई है.  अब वह चीनी स्टार्टअप कंपनी एनआईओ की अमेरिकी प्रमुख हैं. इसके अलावा मंगतानी गुजरात के धर्मसिंह देसाई इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी की पूर्व छात्र हैं.  वर्तमान में वे उबर के बिजनेस इंटेलीजेंस की प्रमुख हैं.

eidbanner

इस क्रम में नारखेडे ने पुणे विश्वविद्यालय से पढ़ाई की है.  वह लिंक्डइन में सॉफ्टवेयर इंजीनियर थीं.  बता दें कि उन्होंने अपने लिंक्डइन के एक सहयोगी के साथ कोंफ्लूएंट की स्थापना की  है. यह डाटा आकलन क्षेत्र की प्रमुख कंपनी मानी जाती है.  साथ ही शिवरामकृष्णन की कंपनी ड्राब्रिज बड़े स्तर पर आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और मशीन लर्निंग का उपयोग करती है. यह कई डिवाइस से लोगों की पहचान सुनिश्चित करने में सक्षम बताई जाती है.

Related Posts

 पाकिस्तानी ब्लॉगर और पत्रकार की हत्या, सेना और आईएसआई के आलोचक थे मोहम्मद बिलाल खान

खबरों के अनुसार बिलाल खान पाकिस्तानी सेना और जासूसी एजेंसी आईएसआई की आलोचना करने के लिए जाने जाते थे.

इसे भी पढ़ें – किसान आंदोलन के मंच पर पहुंचा विपक्ष, बोले राहुल- पीएम मोदी ने हिंदुस्तान को अंबानी-अडाणी में बांटा

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: