न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नसीरुद्दीन शाह को मिला अमर्त्य सेन का साथ, कहा, हमें आवाज उठानी चाहिए

नोबेल पुरस्कार से सम्मानित अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन ने अभिनेता नसीरुद्दीन शाह का समर्थन करते हुए कहा कि उन्हें परेशान करने के प्रयास किये जा रहे हैं.

49

 Kolkata :  नोबेल पुरस्कार से सम्मानित अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन ने अभिनेता नसीरुद्दीन शाह का समर्थन करते हुए कहा कि उन्हें परेशान करने के प्रयास किये जा रहे हैं. बता दें कि  देश में भीड़ हिंसा पर प्रतिक्रिया देने और गैर सरकारी संगठनों पर सरकार द्वारा की जा रही कथित कार्रवाई के खिलाफ एमनेस्टी इंडिया के लिए एक वीडियो में आने की वजह से शाह विवादों में आ गये हैं. रविवार को सेन ने कहा कि अभिनेता को परेशान करने के प्रयास किये जा रहे हैं. जो अधिकारों की मांग कर रहे हैं, उन्हें कैद किया जा रहा है. सेन ने कहा, हमें अभिनेता को परेशान करने के इस तरह के प्रयासों के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए.  देश में जो कुछ हो रहा है, वह आपत्तिजनक है और इसे जरूर रोका जाना चाहिए. बता दें कि नसीरुद्दीन शाह ने कुछ दिन पहले एक बयान जारी कर कहा था कि जिस तरह से देश में हालात होते जा रहे हैं ऐसे में उन्हें भी यह डर सताने लगा है कि कल कहीं उनके बच्चों को भी कोई हिंदू और मुसलमान बताकर मार न दें.

नसीरुद्दीन शाह के बयान के बाद जमकर बवाल हुआ था

Related Posts

कश्मीर में अपना चॉपर MI-17V5 मार गिराने वाले  वायुसेना  के पांच अधिकारी दोषी करार

ये अधिकारी 27 फरवरी को श्रीनगर में अपने ही हेलिकॉप्टर पर फायरिंग करने के मामले में दोषी माने गये हैं

SMILE

नसीरुद्दीन शाह के इस बयान के बाद जमकर बवाल हुआ था. इस विवाद के बात शाह ने एक बार फिर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि जिस तरह से धर्म के नाम पर नफरत की दीवार खड़ी की जा रही है, वह किसी के लिए भी अच्छा नहीं है. इस क्रम में नसीरुद्दीन शाह ने कहा था कि हमारे देश का संविधान हमें बोलने, सोचने, किसी भी धर्म को मानने और इबादत करने की आजादी देता है. लेकिन, अब देश में मजहब के नाम पर नफरतों की दीवार खड़ी की जा रही है. जो लोग इस अन्याय के खिलाफ आवाज उठाते हैं, उन्हें इसकी सजा दी जाती है.  

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: