न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अमर बाउरी ने किया गणतंत्र दिवस शिविर का उद्घाटन

भारतीय गणतंत्र को बचाने के लिए युवाओं को आगे आना होगा: अमर बाउरी

170

Ranchi: राष्ट्रीय सेवा योजना के क्षेत्रीय निदेशालय पटना द्वारा आयोजित पूर्व गणतंत्र दिवस परेड शिविर का उद्घाटन गुरुवार को हटिया के NIFFT में झारखंड सरकार के पर्यटन,कला, संस्कृति, खेल-कूद एवं युवा विभाग के मंत्री अमर कुमार बाउरी ने किया. इस मौके पर मंत्री ने कहा कि गणतंत्र का महत्व, गणतंत्र का उत्सव, गणतंत्र की भावना को समझते हुए देश की एकता और अखंडता को बनाए रखने और उसे चुनौती देने वाले के खिलाफ खड़ा होना होगा. उन्होंने स्वामी विवेकानन्द, खुदीराम बोस, भगत सिंह, बिरसा मुंडा, सिदो कान्हू, गणपत रॉय, तिलका मांझी आदि राष्ट्रीय एवं स्थानीय महापुरुषों के बारे में जानने समझने और उनसे प्रेरणा लेने की बात की. उन्होंने कहा अपनी संस्कृति पर गर्व करने पर जोर देते हुए कहा कि हमारी अतीत गौरवशाली रही है. हमें पश्चिमी संस्कृति और भोगवादी सोच को अपने जीवन में कतई नहीं आने देना चाहिए. उन्होंने भारत के युवाओं से देश की विरासत को संभालते हुए, अपने अतीत को स्मरण करते हुए विश्व का सिरमौर बनाने का आह्वान किया.

इसे भी पढ़ें- रांचीः पंडरा के बनहोरा मैदान को लेकर विवाद, दावा ठोंक रहे पक्ष का ग्रामीणों ने किया विरोध

राष्ट्र विरोधी ताकतों के खिलाफ एकजुट होना होगा

hosp1

उद्घाटन समारोह के विशिष्ट अतिथि रांची विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ रमेश कुमार पांडेय ने अपने संबोधन में सभी स्वयंसेवकों को शुभकामनायें दी और कहा कि युवाओं को समयबद्धता, धैर्य, संयम और मूल्ययुक्त जीवन के साथ कार्य करने पर बल दिया. उन्होंने कहा कि अपने हृदय में राष्ट्रभक्ति की भावना को संजोए रखते हुए हमें आंतरिक एवं बाह्य राष्ट्र विरोधी ताकतों के खिलाफ एकजुट होकर लड़ना होगा.

इसे भी पढ़ें- IAS अफसरों का बड़ा तबका महसूस कर रहा असहज, ऑफिसर ने बर्खास्त होना समझा मुनासिब, लेकिन वापसी मंजूर…

डिजिटल सिपाही बनें युवा

इस अवसर पर NIFFT के निदेशक डॉ पीपी चट्टोपाध्याय ने कहा कि भारत की 65% आबादी युवाओं की है. इसलिए डिजिटल युग में मिल रही चुनौती के लिए हम सबको तैयार रहना होगा. जिसमें राष्ट्रीय सेवा योजना के युवाओं को सिपाही बनना होगा. झारखंड सरकार के खेल निदेशक अनिल कुमार सिंह ने कहा कि यह झारखंड के लिए गर्व की बात है कि इस शिविर में बिहार, झारखंड, उत्तप्रदेश, उत्तराखंड,मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के 6 राज्यों के चुने हुए 210 वालंटियर्स कैम्प कर रहे हैं.

उद्घाटन के अवसर पर अतिथियों का स्वागत मांगलिक प्रतीकों और सांस्कृतिक छटाओं के साथ किया गया. उसके बाद मंगलाचरण, दीप प्रज्वलन, राष्ट्रीय सेवा योजना के लक्ष्य गीत के बाद अतिथियों को पुष्प गुच्छ, अंगवस्त्र एवं स्मृति चिन्ह से क्षेत्रीय निदेशक विनय कुमार ने स्वागत किया एवं साथ ही साथ स्वागत भाषण के माध्यम से सभी अतिथियों का स्वागत किया. कार्यक्रम का सफल संचालन डॉ कमल बोस ने किया और धन्यवाद ज्ञापन राष्ट्रीय सेवा योजना के रांची विश्वविद्यालय के कार्यक्रम समन्वयक डॉ ब्रजेश कुमार ने धन्यवाद ज्ञापन दिया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: