Crime NewsJharkhandKhas-KhabarRanchi

बड़कागांव थाना से फरार अपराधी अमन साव बिहार से पकड़ा गया, पुष्टि नहीं

Saurav Singh

Ranchi: हजारीबाग के बड़कागांव थाना से 29 सितंबर 2019 को फरार हुए गैंगस्टर अमन साव को पुलिस ने बिहार से गिरफ्तार किया है. हालांकि झारखंड पुलिस के द्वारा अब तक इसको लेकर कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गयी है. मिली गुप्त सूचना के आधार पर झारखंड पुलिस की टीम ने कुख्यात अपराधी अमन साहू को बिहार के कटिहार जिला से गिरफ्तार किया है.

बताया जा रहा है कि इसको लेकर पुलिस जल्द ही बड़ा खुलासा कर सकती है. गौरतलब है कि बीते दिनों रांची पुलिस के द्वारा अमन साहू गिरोह के पांच अपराधियों को गिरफ्तार किया गया था. यह सभी अपराधी रांची में कोयला कारोबारी की हत्या करने की योजना बना रहे थे.

advt

इसे भी पढ़ें- देश में 24 घंटे में करीब 39 हजार नये Corona केस, 6.75 लाख से अधिक हुए स्वस्थ

अमन साव मांग रहा था रंगदारी

अमन साव रांची, चतरा, हजारीबाग, लातेहार और रामगढ़ में जमशेदपुर जेल में बंद गैंगस्टर सुजीत सिन्हा के नाम पर लगातार अपराध और धमकी भरा फोन कर पुलिस के लिए सिरदर्द बन गया था. उसकी गिरफ्तारी के लिए बिहार, बंगाल और नेपाल तक पुलिस की टीम गयी लेकिन अमन का सुराग नहीं लगा सकी थी. इस दौरान सुजीत सिन्हा और अमन साव गिरोह के दो दर्जन से अधिक लोग जरूर पकड़े गये हैं.

लेकिन अमन साव पुलिस की पकड़ से दूर बेखौफ होकर लोगों से रंगदारी मांगने का काम कर रहा था. साथ ही लोगों की हत्या की साजिश भी रच रहा था.अमन साव की गिरफ्तारी पुलिस के लिए बड़ी सफलता है.

सुजीत सिन्हा का काम देख रहा अमन साव

इस वर्ष जनवरी महीने में गैंगस्टर सुजीत सिन्हा ने पुलिस रिमांड में कई सनसनीखेज खुलासे किये थे. जमशेदपुर के घाघीडीह जेल में आजीवन कैद की सजा काट रहे गैंगस्टर सुजीत सिन्हा ने एसआइटी और जमेशदपुर पुलिस द्वारा रिमांड में पूछताछ के दौरान कई अहम खुलासे किये थे.

adv

सुजीत सिन्हा से रांची, पलामू, चतरा, लातेहार में कई आपराधिक घटनाओं के बारे में पूछताछ की गयी थी. इस दौरान उसने अपने गिरोह के पूरे नेटवर्क का खुलासा कर दिया है. उसने स्वीकार किया कि रांची, रामगढ़, हजारीबाग में उसने कुख्यात गैंगस्टर अमन साव से हाथ मिला लिया है. उसका मुख्य काम अमन साव ही देख रहा है. जिसमें उसका सहयोग हजारीबाग जेल में बंद टाइगर ग्रुप का सरगना राजकुमार गुप्ता कर रहा है.

इसे भी पढ़ें- UP के लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे पर भीषण सड़क हादसा, 5 की मौत, 25 घायल

गिरोह तैयार कर अमन साव वसूल रहा था रंगदारी

थाना से फरार अपराधी अमन साव एक बड़ा आपराधिक गिरोह तैयार कर हजारीबाग के उरीमारी, बड़कागांव, डाड़ीकला, गिद्दी, केरेडारी थाना क्षेत्र, चतरा जिले के पिपरवार थाना क्षेत्र, लातेहार जिला के चंदवा थाना क्षेत्र में कार्यरत कोयला कंपनियों, ट्रांसपोर्टरो, एवं उद्यमियों से भयादोहन के रूप में बड़ी राशि की मांग लगातार करता रहा है.

मांगी गयी राशि नहीं देने पर जान से मारने की धमकी और उनके वाहनों में आग लगाने की धमकी भी देता रहा है. 12 जुलाई को अमन साव के गिरोह के पांच अपराधियों को रांची पुलिस ने गिरफ्तार किया था. ये सभी अपराधी अमन साव के कहने पर चार बड़े कोयला कारोबारियों की हत्या करने के फिराक में थे.

अमन साव पर हैं कई संगीन आरोप

  • विकास तिवारी के दो शूटर बिक्की तिवारी और बसंत करमाली की हत्या.
  • सौंदा बस्ती के समीप बालू घाट संचालक महेंद्र प्रसाद और बिजेंद्र प्रसाद के ऊपर फायरिंग.
  • खलारी के कोल ट्रांसपोर्टर रिंकू सिंह की हत्या.
  • केडी.एच साइडिंग, कुजू साइडिंग में गोलीबारी.
  • बीजीआर आउटसोर्सिंग कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर मल्लिकार्जुन रेड्डी की हत्या.
  • रामगढ़ के रेक लिफ्टर नेपाल यादव पर फायरिंग.
  • चतरा के शिवपुर साइडींग में मां अंबे कंपनी के सुपरवाईजर की हत्या समेत अन्य मामले दर्ज हैं.
  • रांची रंगदारी नहीं देने पर चार कोयला कारोबारियों की हत्या करने की साजिश अमन साव ने रची थी.

इसे भी पढ़ें- वन विभाग में नहीं मिल रहा लंगटा बाबा स्टील समेत तीन कंपनियों को NOC देने का दस्तावेज

advt
Advertisement

7 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button