न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

सीबीआई निदेशक पद से हटाये गये आलोक वर्मा को मिला सुब्रमण्यम स्वामी का साथ, कहा-गलत हुआ

सीबीआई निदेशक पद से हटाये गये आलोक वर्मा को भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी का साथ मिला है. स्वामी वर्मा को सीबीआई निदेशक पद से हटाये जाने से नाराज हैं.

48

NewDelhi : सीबीआई निदेशक पद से हटाये गये आलोक वर्मा को भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी का साथ मिला है. स्वामी वर्मा को सीबीआई निदेशक पद से हटाये जाने से नाराज हैं.  उन्होंने केंद्र सरकार की आलोचना की है.  स्वामी के अनुसार सीबीआई प्रमुख को गलत तरीके से हटाया गया है. इस क्रम में स्वामी ने सीवीसी को भी आरोपों के घेरे में लेते हुए कहा कि सीवीसी की रिपोर्ट के आधार पर सीबीआई निदेशक को हटाया नहीं जा सकता है. कहा कि  सीवीसी की हैसियत आरबीआई गवर्नर से ज्यादा कुछ भी नहीं है. बता दें कि गुरुवार को स्वामी ने कहा कि सरकार आलोक वर्मा का पक्ष जाने बिना सिर्फ सीवीसी की रिपोर्ट का आधार बनाकर हटा नहीं सकती.  कहा कि वर्मा को भी उनके बचाव के लिए एक मौका दिया जाना चाहिए था.  उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फर्जी कानूनी जानकारों ने गलत सुझाव दिया है.  जिन लोगों ने गलत सुझाव दिया है उन्होंने ही सरकार को इस हालत में पहुंचाया है. गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा से मुलाकात भी की, उनसे मिलने के बाद स्वामी ने बड़ा बयान दिया. BJP सांसद बोले कि आलोक वर्मा को सीबीआई निदेशक के पद से नहीं हटाया जा सकता है, सुप्रीम कोर्ट इस मसले में हमें पहले ही सबक सिखा चुका है.

eidbanner

तो समस्या सुलझने की बजाय और बदतर हो जायेगी

mi banner add

बता दें कि बुधवार को आलोक वर्मा ने कोर्ट से राहत मिलने के बाद निदेशक पद का कार्यभार संभाला था. स्वामी ने कहा था कि सीवीसी (केंद्रीय सतर्कता आयोग) की रिपोर्ट एक अन्य अधिकारी के दृष्टिकोण पर आधारित है, जिसने गलत रिपोर्ट दी है.  इसकी जांच होनी चाहिए. अगर वर्मा को हटाया जायेगा तो समस्या सुलझने की बजाय और बदतर हो जायेगी.  आलोक वर्मा ने 77 दिन बाद अपना कार्यभार बुधवार को संभाला था. वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के बीच की लड़ाई सार्वजनिक होने के बाद केन्द्र सरकार ने 23 अक्टूबर 2018 की देर रात आदेश जारी कर वर्मा के अधिकार वापस लेकर उन्हें जबरन छुट्टी पर भेज दिया था.  सरकार के आदेश को मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने रद्द कर दिया था जिसके बाद वर्मा ने कार्यभार संभाल लिया.  लेकिन पीएम मोदी की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यों वाली कमेटी ने वर्मा  पर गाज गिरा दी.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: