न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पदभार संभालते ही एक्शन में दिखे आलोक वर्मा, ज्यादातर तबादले रद्द, पांच अफसर बदले

32

New Delhi :  छुट्टी के बाद पदभार संभालते ही सीबीआइ प्रमुख आलोक वर्मा ने कईयों का तबादला कर दिया है. सूत्रों के अनुसार सीबीआइ चीफ ने गुरुवार को जेडी अजय भटनागर, डीआइजी तरुण गाबा, जेडी मुरुगेसन और एडी एके शर्मा का तबादला कर दिया है. सूत्रों ने बताया कि अनीष प्रसाद डेप्‍युटी डायरेक्‍टर (ऐडमिनिस्‍ट्रेशन) सीबीआइ मुख्‍यालय बने हुए हैं. वहीं केआर चौरसिया स्‍पेशल सूनिट -1 को लीड करेंगे. उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को आलोक वर्मा को उनके पद पर बहाल कर दिया था. उन्हें सरकार ने करीब दो महीने पहले जबरन छुट्टी पर भेज दिया था.

सीबीआई प्रमुख वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना ने एक-दूसरे पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे. जिसके बाद उन्हें जबरन छुट्टी पर भेज दिया गया था. वर्मा ने बुधवार को पदभार पुन: संभालते हुए एम नागेश्वर राव द्वारा किये गये ज्यादातर तबादले रद्द कर दिये. राव वर्मा की अनुपस्थिति में अंतरिम सीबीआइ प्रमुख नियुक्त किए गए थे.

अहम बैठक से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी सरकार पर हमला बोला और कहा कि राफेल मामले के कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सीबीआई प्रमुख अलोक वर्मा को हटाने की जल्दबाजी में हैं. राहुल ने ट्वीट कर कहा, ‘ प्रधानमंत्री सीबीआई प्रमुख को हटाने की इतनी जल्दबाजी में क्यों हैं ? उन्होंने सीबीआई प्रमुख को चयन समिति के समक्ष अपना पक्ष रखने की अनुमति क्यों नहीं दी?’ उन्होंने कहा, ‘जवाब है : राफेल.’सीबीआइ निदेशक के तौर पर वर्मा का दो साल का निर्धारित कार्यकाल 31 जनवरी को खत्म होने वाला है.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: