JharkhandRanchiTOP SLIDER

पंचायत प्रतिनिधियों के कार्यकाल बढ़ाने के लिए लग रहा वसूली का आरोप

Ranchi : झारखंड में पंचायत प्रतिनिधियों का कार्यकाल समाप्त हो चुका है. लेकिन आधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि अभी तक नहीं की गयी है. पंचायत प्रतिनिधि पसोपेश में हैं कि आखिर उनके साथ क्या होनेवाला है. जबकि सरकार की तरफ से कार्यकाल को बढ़ानेवाला अध्यादेश तैयार कर लिया गया है. राज्यपाल की तरफ से मंजूरी भी मिल गयी है. लेकिन अभी तक विभाग की तरफ से किसी जिले को इस बाबत कोई सूचना नहीं दी गयी है. इस ऊहापोह की स्थिति में सबसे ज्यादा परेशानी का सामना मुखिया को करना पड़ रहा है.

इसे भी पढ़ें : राज्य में छह साल से डीआरडीए कर्मियों का महंगाई भत्ता नहीं बढ़ा

कुछ मुखिया का आरोप है कि पंचायत प्रतिनिधियों के कार्यकाल को बढ़ाने के लिए मुखिया संगठनों की तरफ से वसूली की बात की जा रही है. कहा जा रहा है कि अगर कार्यकाल को बढ़ाना है तो इसके लिए पैसे खर्च करने होंगे. पांच हजार रुपये तक की राशि हर मुखिया से वसूलने के आरोप लग रहे हैं. कहा जा रहा है कि जितनी जल्दी पैसा पहुंचेगा उतनी जल्दी ही कार्यकाल बढ़ाने के आदेश पर मुहर लगेगी.

Catalyst IAS
ram janam hospital

आरोप गलत, नहीं हो रही वसूलीः अध्यक्ष और महासचिव

The Royal’s
Sanjeevani

मुखिया से राशि वसूली के आरोप पर मुखिया संघ के प्रदेश अध्यक्ष विकास कुमार महतो और महासचिव अजय सिंह से न्यूज विंग ने बात की. दोनों का कहना है कि आरोप बिल्कुल बेबुनियाद है. कहा कि जब सरकार की तरफ से कार्यकाल बढ़ाने का अध्यादेश तैयार कर लिया गया है, तो आखिर वसूली कैसे हो सकती है. उन दोनों ने कहा कि अभी तक एक भी मुखिया ने उन तक यह बात नहीं पहुंचायी है. जो भी ऐसा कह रहा है बेबुनियाद और गलत है.

इसे भी पढ़ें :IAS की FIR नहीं हुई तो बिगड़े जीतन राम मांझी, सरकार से पूछे सवाल

Related Articles

Back to top button