न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कोयले की कमी का दंश झेल रहे डीवीसी के सभी पावर प्लांट : डीके वर्मा

डीवीसी के सीवीओ डीके वर्मा ने बोकारो थर्मल का किया दौरा

152

Bermo : डीवीसी के सीवीओ डीके वर्मा ने बुधवार को बोकारो थर्मल स्थित डीवीसी के ए एवं बी पावर प्लांट का दौरा किया. अपने दौरे के क्रम में सीवीओ ने पावर प्लांट के कोल यार्ड, सीएचपी, कांटा घर एवं बी पावर प्लांट का दौरा कर कोयले की वर्तमान स्थिति का जायजा लिया. बाद में सीवीओ स्थानीय प्रोजेक्ट हेड कमलेश कुमार, सीई निखिल कुमार चौधरी सहित अन्य अधिकारियों एवं इंजीनियरों के साथ बैठक भी की. सीवीओ डीके वर्मा के साथ डीवीसी के डिप्टी सीवीओ तपन अधिकारी, स्थानीय विजलेंश ऑफिसर आरके चौधरी, वीएन ठाकुर, डीजीएम पीके सिंह, डिप्टी चीफ सिविल अरुण कुमार भी थे.

इसे भी पढ़ें- मीटर खरीद मामले में जेबीवीएनएल जिद पर अड़ा, मनमाने ढंग से टेंडर के बाद सीएमडी की चिट्ठी की भी परवाह…

कोल इंडिया की नीतियों के कारण नहीं हो पा रही कोयले की आपूर्ति

बाद में सीवीओ डीके वर्मा ने डीवीसी के स्थानीय निदेशक भवन में पत्रकारों के साथ बातचीत के क्रम में कहा कि डीवीसी के सारे पावर प्लांट को वर्तमान में कोयले के संकट का सामना करना पड़ रहा है. कोयला संकट के लिए कोल इंडिया की वर्तमान नीतियां जिम्मेदार हैं, जिसके कारण कोयले की आपूर्ति नहीं हो पा रही है. कोल इंडिया से पहले डीवीसी के पावर प्लांटों में प्रतिदिन लगभग 25 रैक कोयले की आपूर्ति की जाती थी, जो कि वर्तमान में घटकर सात-आठ रैक ही रह गयी है. कोयले की कमी के कारण डीवीसी के पावर प्लांटों को चलाने में काफी मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है और उत्पादन भी घटकर लगभग आधा हो गया है. बिजली उत्पादन में कमी के कारण डीवीसी अपने कंज्यूमर सहित झारंखड को बिजली की पूरी सप्लाई कर पाने में असमर्थ है और बिजली की कटौती की जा रही है.

इसे भी पढ़ें- आयुष्मान भारत योजना में किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी : मुख्यमंत्री

कर्मचारी व अधिकारी को निष्ठापूर्वक निभानी होगी जिम्मेदारी

सीवीओ ने कहा कि डीवीसी को चलाने एवं बचाने में इसके सभी कर्मचारी एवं अधिकारी को अपनी जिम्मेदारी का निष्ठापूर्वक निवर्हन करना होगा, तभी डीवीसी को आगे ले जाया जा सकता है, साथ ही इसके उत्पादन में भी बढ़ोतरी भी होगी. डीवीसी में व्याप्त भ्रगष्टाचार के मामले पर सीवीओ ने कहा कि उनके कार्यकाल में डीवीसी में जहां भी भ्रष्टाचार की जानकारी या सूचना मिलती है, उसकी जांच वह खुद अपने स्तर से ही करते हैं. जांच में दोषी पाये जानेवाले को किसी भी कीमत में बख्शा नहीं जायेगा. उन्होंने कहा कि उनके कार्यकाल में भ्रष्टाचार को लेकर एक आम आदमी की शिकायत को भी काफी गंभीरता से लिया जाता है और उसकी शिकायत को डस्टबिन में नहीं फेंका जाता है. आम आदमी की शिकायत पर भी काफी बारीकी से जांच की जाती है और उसमें सच्चाई मिली, तो निःसंदेह कार्रवाई की जाती है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.


हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: