न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

छात्र नेता मनोज यादव को छोड़कर सभी पारा शिक्षक नेताओं को मिली बेल

प्रधान न्यायायुक्त नवनीत कुमार की अदालत ने दी जमानत

90

Ranchi: छात्र नेता मनोज यादव को छोड़कर सभी पाराशिक्षक नेताओं को मंगलवार को बेल मिली गई. प्रधान न्यायायुक्त नवनीत कुमार की अदालत ने बेल दे दी. कोर्ट ने 13 पारा शिक्षकों को बेल दी, इनमें से 6 पारा शिक्षकों के नेता भी हैं. बता दें कि सात पारा शिक्षक के नेताओं की जमानत पहले कोर्ट ने खारिज कर दी थी.

eidbanner

जिसके बाद मंगलवार को उन्हें बेल दे दी गई. प्रधान न्यायायुक्त नवनीत कुमार की अदालत ने संजय कुमार दुबे, हृषिकेश पाठक, प्रद्युमन कुमार सिंह, बजरंग प्रसाद साहू, प्रमोद कुमार महतो, मोहन कुमार मंडल सहित अन्य पारा शिक्षकों को जमानत दी.

इससे पहले 280 पारा शिक्षकों को मिली थी बेल

झारखंड के 18 वें स्थापना दिवस के अवसर पर मोरहाबादी में हुए आयोजित कार्यक्रम के दौरान सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करने के बाद गिरफ्तार हुए सभी पारा शिक्षकों को एक दिसंबर को जमानत मिल गयी थी. प्रधान न्यायायुक्त नवनीत कुमार की अदालत में सुनवाई के दौरान इन्हें जमानत मिली थी. ये जमानत 10-10 हजार के निजी मुचलके पर दी गयी थी. अदालत ने बाद में गिरफ्तार पारा शिक्षकों की अगुवाई करने वाले सात नेताओं को जमानत नहीं दी थी. कुछ पारा शिक्षकों ने अदालत में कहा कि उन्हें नेताओं ने बहला-फुसला कर कार्यक्रम में शामिल होने को कहा था. उन्हें इस बात की जानकारी नहीं थी कि मामला इतना गंभीर हो जाएगा.

क्या था मामला

बता दें कि झारखंड स्थापना दिवस 15 नवंबर के दिन गुरुवार को मोरहाबादी मैदान में राज्य के पारा शिक्षकों के उग्र प्रदर्शन एवं मुख्यमंत्री को प्रदर्शन के दौरान काला झंडा दिखाने के मामले में रांची पुलिस ने 280 पारा शिक्षकों को शुक्रवार (16 नवंबर) शाम जेल भेज दिया था. इनमें 33 महिला पारा शिक्षिकाएं भी शामिल थीं. पुलिस ने पारा शिक्षकों पर आठ धाराएं लगायी हैं. उनपर धारा 144, 341, 342, 323, 307, 353, 337 और 338 लगी थी.

इसे भी पढ़ेंःअफसर बता रहे लिंक फेल होने से समय पर नहीं मिली सैलरी, जबकि खजाने…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: