न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जेट एयरवेज की सभी अंतरराष्ट्रीय विमान रद्द, सरकार ने समीक्षा के दिये निर्देश

नागर विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने सचिव को जेट एयरवेज के मुद्दों की समीक्षा के दिए निर्देश

604

Mumbai: पहले 123 विमानों का संचालन करनेवाली जेट एयरलाइंस कभी भी धड़ाम हो सकती है. कंपनी ने अपनी सभी अंतरराष्ट्रीय विमान रद्द कर दिये है. अब महज 10 प्लेन का ही संचालन कर रहा है.

mi banner add

आर्थिक तंगी से जूझ रहे जेट एयरवेज को लेकर सरकार भी गंभीर नजर आ रही है. नागर विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने अपने मंत्रालय के सचिव प्रदीप सिंह खरोला को जेट एयरवेज से संबंधित मुद्दों की समीक्षा करने का शुक्रवार को निर्देश दिया. जेट एयरवेज इस समय 10 से भी कम विमानों का संचालन कर रहा है.

इसे भी पढ़ेंः चुनावी बॉन्ड पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आज

सुनिश्चित हो यात्रियों की सुरक्षा

प्रभु ने सुबह ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. उन्होंने ट्वीट किया कि, ‘नागर विमानन मंत्रालय के सचिव को जेट एयरवेज से संबंधित मुद्दों की समीक्षा करने का निर्देश दिया. यात्रियों को होने वाली असुविधा कम करने और उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक कदम उठाने के लिए कहा गया है.’

उद्योग सूत्रों के अनुसार, जेट एयरवेज शुक्रवार को केवल नौ विमानों दो बोइंग 737 और सात क्षेत्रीय जेट एटीआर का संचालन करेगा.

Related Posts

कर्नाटक : सियासी ड्रामे पर से उठेगा पर्दा,  कुमारस्वामी सरकार के भविष्य पर सोमवार को फैसला संभव

 कर्नाटक में कांग्रेस-जद(एस) सरकार रहेगी या जायेगी, इस पर सोमवार को विधानसभा में फैसला होने की संभावना है.  

इसे भी पढ़ेंःपूरी तरह से फेल रही है केंद्र की मोदी सरकार : कीर्ति आजाद

आर्थिक तंगी जूझ रहा जेट एयरवेज

एक सूत्र ने कहा, ‘जेट शुक्रवार को केवल नौ विमान का संचालन कर रहा है.’ नकदी की समस्या से जूझ रहे जेट एयरवेज ने गुरुवार को पूर्व और पूर्वोत्तर क्षेत्रों के लिए अपनी उड़ानें बंद कर दीं. उसने एक दिन के लिए अंतरराष्ट्रीय सेवाएं भी निलंबित कर दी है. इसके परिणामस्वरूप कई यात्री हवाईअड्डों पर फंस गए.

सूत्रों ने बताया कि केवल उड़ानें रद्द होने से एयरलाइन पर यात्रियों का 3,500 करोड़ रुपये से अधिक का बकाया हो गया है. गुरुवार दोपहर तक एयरलाइन ने केवल 14 विमानों का संचालन किया. एक वक्त था जब जेट एयरवेज 123 विमानों का संचालन करता था.

इसे भी पढ़ेंःपलामू : 70 साल में एक बांध का भी नहीं हुआ निर्माण, ग्रामीण करेंगे वोट…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: