न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जेट एयरवेज की सभी उड़ानें रद्द, 25000 कर्मचारी होंगे बेरोजगार

555

New Delhi: आखिरकार एयरवेज कंपनी को अपनी सभी उड़ानें बंद कर देनी पड़ीं.  लंबे वक्त से भीषण आर्थिक संकट से जूझ रही एयरलाइंस कंपनी जेट एयरवेज संकट ने नहीं उबर पायी. बैंकों ने जेट एयरवेज को 400 करोड़ रुपए की इमरजेंसी फंड देने से इंकार कर दिया, जिसके बाद कंपनी ने सभी उड़ानें बंद करने का ऐलान कर दिया.

इसे भी पढ़ें- वोट कम और माफी ज्यादा मांग रहे चतरा से BJP प्रत्याशी सुनील सिंह, हो रहा भारी विरोध-देखें वीडियो

Sport House

नहीं मिला 400 करोड़ का कर्ज

जेट एयरवेज ने बुधवार रात से अस्थायी रूप से अपनी सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को रद्द कर दिया है. बैंकों से 400 करोड़ रुपये का आपातकालीन कर्ज नहीं मिलने के बाद एयरलाइन पर बंद होने का खतरा मंडराने लगा है. आपको बता दें कि अगर जेट एयरवेज को बंद करना पड़ता है तो 25,000 लोग बेरोगजार हो जाएंगे.

इसे भी पढ़ें – पीएम मोदी की रैली के लिए मैदान नहीं मिल रहे भाजपा को, आसनसोल-बोलपुर की  रैली  कैसे करेंगे मोदी,  कोर्ट जाने को तैयार भाजपा 

जनवरी से सैलरी नहीं

4,244 करोड़ रुपए का नुकसान उठा चुकी कंपनी जनवरी से न तो पायलटों और कर्मचारियों को सैलरी दे पाई है और न ही तेल कंपनियों का बकाया चुका पायी है. इतना ही नहीं कंपनी विमानों का किराया चुकाने में विफल रही है. कभी देश की दूसरी सबसे बड़ी विमान कंपनी आज एक भी विमानों का परिचालन करने में असमर्थ है.

Mayfair 2-1-2020

इसे भी पढ़ें – रिजर्व ईवीएम की जीपीएस सिस्टम से होगी ट्रैकिंग : एल ख्यांग्ते

देश की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी थी

8000 करोड़ रुपये से अधिक के बोझ से जेट के सभी विमान पर जमीन पर ही रहेंगे. दिसंबर 2018 तक कंपनी के बेड़े में 124 विमान थे, लेकिन अब 5 ही उड़ रहे थे. 25 साल पुरानी कंपनी आज भले ही गर्दिशों में हो, लेकिन एक समय बाजार में इसकी तूती बोलती थी. यह देश की दूसरी सबसे बड़ी एयरलाइन कंपनी थी. जेट एयरवेज के चेयरमैन पद से हाल ही में इस्तीफा देने को मजबूर हुए नरेश गोयल ने कभी टैक्सी एजेंसी के रूप में इसकी शुरुआत की थी.

इसे भी पढ़ें – इमरान को मोदी का जवाब, भारतीय जानते हैं कि रिवर्स स्विंग पर हेलिकॉप्टर शॉट कैसे लगाया जाता है

SP Jamshedpur 24/01/2020-30/01/2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like