JharkhandMain SliderRanchi

#MPSudarshanBhagat की CDPO पत्नी पर सब मेहरबान, तबादले के एक साल बाद भी पुरानी जगह ही जमीं

Akshay Kumar Jha

Ranchi:  तीन बार लोहरदगा से सांसद. चार बार केंद्र सरकार में राज्य मंत्री. झारखंड में बीजेपी के जाने माने चेहरे सुरदर्शन भगत की पत्नी पर ना जाने क्यों जिले से लेकर विभाग के आला अधिकारी तक मेहरबान हैं. सांसद सुदर्शन भगत की पत्नी कृष्णा टोप्पो सीडीपीओ हैं. सालों से ये रांची जिले के नगड़ी ब्लॉक में जमी हैं.

लोकसभा चुनाव से पहले तीन साल से ज्यादा समय से जमे अधिकारियों और कर्मियों के तबादले के वक्त इनका तबादला खूंटी जिला के कर्रा प्रखंड में कर दिया गया. उस वक्त ये तबादले चुनाव आयोग के निर्देश पर हुए थे. लेकिन कृष्णा टोप्पो को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ा. वो तबादले के बाद से ही रांची के नगड़ी ब्लॉक में ही जमी हैं और वेतन भी उठा रही हैं.

इसे भी पढ़ें –पीएम किसान सम्मान निधिः क्या #MODI और #BJP ने देश 5.72 करोड़ किसानों के साथ ठगी की!

बनीं खूंटी की जिला समाज कल्याण पदाधिकारी फिर भी रांची में ही जमी

तबादला हो जाना और नये जगह जाकर पदभार ग्रहण ना करना शायद छोटी बात हो. लेकिन चौंकाने वाली बात यह है कि कृष्णा टोप्पो के तबादले के बाद विभाग की तरफ से 31 जुलाई को फिर से एक नोटिफिकेशन निकला. इस बार उन्हें खूंटी जिला के कर्रा ब्लॉक के सीडीपीओ से जिला का समाज कल्याण पदाधिकारी बना दिया गया.

लेकिन फिर भी कृष्णा टोप्पो रांची जिले के नगड़ी प्रखंड में ही जमी हैं. ना ही उन्हें रिलीज किया गया और ना ही वो खूंटी जिला की जिला समाज कल्याण पदाधिकारी बनीं. लिहाजा खूंटी जिले में समाज कल्याण पदाधिकारी के पद पर कार्यपालक दंडाधिकारी से रखा गया है.

इसे भी पढ़ें – क्या #GharGharRaghubar अभियान को बीजेपी ने नकार दिया!

बेबस और लाचार लोगों पर ही चला तबादले का चाबुक

ऐसा नहीं है कि तबादले को लेकर समाज कल्याण विभाग गंभीर नहीं है. लोकसभा चुनाव से पहले दो ऐसे सीडीपीओ जो बेहद बेबस और लाचार थीं, उनका तबादला भी विभाग की तरफ से किया गया और उन्होंने तबादले वाली जगह जाकर ज्वाइन भी की.

बीणा कुमारी हजारीबाग जिले में हजारीबाग ग्रामीण प्रखंड में कार्यरत थीं. वो कैंसर पीड़ित महिला हैं. बावजूद उनका तबादला कोडरमा जिला कर दिया गया. वो अपनी सेवा कोडरमा में दे रही हैं.

वहीं रेखा कुमारी नाम की सीडीपीओ के बेटे को एक ऐसी लाइलाज बीमारी है, जो दुनिया में चंद लोगों में ही पाया गया है. बावजूद इसके उनका तबादला हजारीबाग से चतरा जिला कर दिया गया. उन्होंने वहां जा कर अपनी सेवा दी. लेकिन ना जाने क्यों कृष्णा टोप्पो पर सारे नियम और कानून काम क्यों नहीं करते. एक साल से तबादले के बावजूद वो पुरानी जगह जमी हैं और कोई उनका कुछ नहीं बिगाड़ पाता.

पोषण माह की वजह से नहीं हुआ तबादलाः राय महिमापत रे, डीसी रांची

इस बारे में रांची डीसी राय महिमापत रे ने कहा कि कुछ सीडीपीओ की पोस्टिंग नहीं हो पायी है, क्योंकि पोषण माह चल रहा है. पोषण माह को देखते हुए ही हमलोगों ने कुछ सीडीपीओ को विरमित नहीं किया है. जहां पोषण माह खत्म हो गया है, वहां से लोगों को रिलीज कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ें – न्यूज विंग की खबर पर #INTUC हुआ रेस, #SBC पर कार्रवाई नहीं करने पर कोर्ट में जाने की चेतावनी

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: