न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

अलीगढ़ कांड : बच्ची की हत्या मामले में और दो आरोपी गिरफ्तार, बच्ची की हत्या के बाद शव को फ्रिज में रखा !

मेहदी हसन और महिला आरोपी से पहले इस मामले में पकड़े गये जाहिद और असलम को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था.

48

Aligarh :  यूपी के अलीगढ़ में ढाई साल की बच्ची की निर्मम हत्या के मामले में पुलिस ने शनिवार को अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया है.  शनिवार को वारदात को अंजाम देने वाले तीसरे आरोपी मेहदी हसन के अलावा चौथी महिला आरोपी जाहिद की पत्नी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

eidbanner

अलीगढ़ में बच्ची से दिल दहला देने वाली वारदात पर देशभर में आक्रोश की लहर है.  वहीं, मामले की जांच कर रही एसआईटी की टीम को आशंका है कि हत्या के बाद बच्ची के शव को फ्रिज में रखा गया था.  घटना अलीगढ़ के टप्पल की है.

आरोपियों से हत्या के मामले में पूछताछ की जा रही है. मेहदी हसन और महिला आरोपी से पहले इस मामले में पकड़े गये जाहिद और असलम को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था. जाहिद की पत्नी को गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस को घर में रखा फ्रिज साफ-सुथरा मिला है. ऐसे में पुलिस को आशंका है कि बच्ची की हत्या के बाद शव को फ्रिज में रखा गया.

इसे भी पढ़ेंः केरल के गुरुवायूर मंदिर में मोदी ने की पूजा, 112 किलो कमल फूल से तौले गए

 बच्ची का शव जाहिद की पत्नी के कपड़े में लपेटा हुआ था

सूत्रों के अनुसार  पुलिस को लग रहा है कि शव को फेंकने के बाद फ्रिज को साफ किया गया.  पुलिस सभी बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए जाहिद की पत्नी और मेहदी से पूछताछ कर रही है.  एसएसपी अलीगढ़ का कहना है, ढाई साल की बच्ची की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी जाहिद और उसकी पत्नी समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

बच्ची का शव जाहिद की पत्नी के कपड़े में लपेटा हुआ था. एसएसपी ने कहा कि हमने पीड़ित परिजनों से मुलाकात की है और उनकी मांग है कि आरोपियों को फांसी पर लटकाया जाये. कहा कि  मामले में चार्जशीट जल्द फाइल की जायेगी.

Related Posts

डॉक्टरों की हड़ताल समाप्त होने के आसार,  सीएम ममता का हर अस्पताल में पुलिस अधिकारी तैनात करने का आदेश 

डॉक्टरों की हड़ताल समाप्त होने के आसार हैं. पश्चिम बंगाल में हिंसा के विरोध में हड़ताल पर गये चिकित्सकों और राज्य सरकार के बीच गतिरोध खत्म होने के संकेत नजर आ रहे हैं.

बता दें कि मां-बाप द्वारा उधार लिये गये 10 हजार रुपये न चुकाने पर बच्ची से बर्बरता की लोगों ने सोशल मीडिया पर तीखी आलोचना की है.  बता दें कि मामला तूल पकड़ने के बाद गुरुवार देर रात पांच पुलिसवालों को सस्पेंड कर दिया गया था.  आरोप है कि बच्ची जब गायब हुई थी तो इन्होंने रिपोर्ट नहीं लिखी थी और जांच में भी देरी की.

पुलिस के  अनुसार आरोपी जाहिद से बच्ची के परिवारवालों ने 50 हजार रुपये उधार लिये थे. इनमें से 10 हजार बकाया थे, पैसे नहीं देने पर 28 मई को जाहिद की बच्ची के दादा से कहासुनी हुई. इसके बाद 30 मई को जाहिद ने बच्ची को अगवा किया और उसकी हत्या कर साथी असलम की मदद से शव को ठिकाने लगाया. बताया गया कि परिवार को बच्ची का शव दो जून को घर के पास क्षत-विक्षत हालत में कूड़े के ढेर में मिला था.

शहर के वकील आरोपियों का केस नहीं लड़ेंगे

ढाई साल की मासूम की निर्मम हत्या के मामले में शहर के वकीलों ने बच्ची के परिवार का साथ देने का फैसला किया है. अलीगढ़ बार एसोसिएशन ने ऐलान किया है कि कोई भी वकील इस मामले के आरोपियों का केस नहीं लड़ेगा. न्यूज एजेंसी एएनआई के ट्वीट के  अनुसार  बच्ची की हत्या के मामले में अलीगढ़ बार एसोसिएशन के महासचिव अनूप कौशिक ने कहा कि हम बच्ची के परिवार के साथ खड़े हैं. कहा कि वकील आरोपियों का केस नहीं लड़ेंगे. बाहर के वकील को मुकदमा लड़ने की इजाजत नहीं दी जायेगी. हम बच्ची के लिए न्याय की लड़ाई लड़ेंगे.

इसे भी पढ़ेंः ईडी ने द क्विंट के संपादक राघव बहल के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: