HEALTHJharkhandRanchi

Alert : बदलते मौसम की सर्दी-खांसी को हल्के में न लें,  कोरोना के हैं लक्षण

Ranchi : राजधानी में मौसम पल-पल बदल रहा है. अगर आपको इस बदलते मौसम में सर्दी, खांसी, बुखार के साथ बदन में दर्द है तो अलर्ट हो जाइये. क्योंकि कोरोना के लक्षण भी ऐसे ही हैं. ऐसे में अगर तीन दिन से ज्यादा ये समस्याएं रहती हैं तो खतरनाक हो सकती है.

ऐसे में डॉक्टर तत्काल लोगों को टेस्ट कराने की सलाह दे रहे हैं. जिससे कि कोविड 19 के मामले को बढ़ने से रोका जा सके. बताते चलें कि ओपीडी में इलाज के लिए हर दिन आने वाले मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है.

 

advt

वायरल से जोड़ना ठीक नहीं

एक के बाद एक लोग घर और ऑफिस में बीमार पड़ रहे हैं. वहीं इलाज के नाम पर लोग मेडिकल से दवाई लेकर काम चला रहे हैं. लेकिन कोविड 19 के बीच डॉक्टर इसे वायरल बुखार से जोड़कर नहीं देख रहे हैं. आपको बता दें कि शहर में भी कोविड के मामले फिर से बढ़ने लगे हैं. डॉक्टरों की माने तो वायरल का असर तीन दिनों में ठीक हो जाता है. पर शहर में मौसमी बीमारियां लोगों को तीन दिन से अधिक समय तक चपेट में ले रही हैं. ओपीडी में ऐसे दर्जनों मरीज इलाज के लिए आ रहे हैं, जिनका तत्काल कोरोना टेस्ट कराया जा रहा है.

 

खुद से दवा लेना पड़ सकता है भारी

तबीयत खराब होने पर लोग मेडिकल दुकानों से एंटीबायोटिक, पेरासिटामोल और एलर्जी की दवा खरीद कर खा रहे हैं. लेकिन खुद से ये दवा लेना लोगों को भारी पड़ सकता है. एंटीबायोटिक भले ही थोड़ी देर में राहत देता है पर लंबे समय के लिए नुकसानदायक हो सकता है. इसलिए कोई भी दवा लेने से पहले तत्काल डॉक्टर से सलाह लेकर ही दवाएं खाएं.

 

104 हेल्पलाइन से ले सकते हैं मदद

आज भी लोग हॉस्पिटल और डॉक्टरों के पास जाने से डर रहे हैं. ऐसे में लोगों को कोविड के इंफेक्शन से बचाने के लिए आनलाइन डॉक्टरों से कंसल्ट करने की भी व्यवस्था की गयी है. 104 हेल्पलाइन नंबर पर 24 घंटे डॉक्टरों की टीम उपलब्ध है. जहां सभी विभागों के डॉक्टर मरीजों को सलाह दे रहे हैं. इसके अलावा इ-संजीवनी एप से भी डॉक्टरों से कंसल्ट कर सकते हैं.

 

घर में सिपेज से हो सकती है एलर्जी

रिम्स मेडिसीन के डॉ. बी कुमार की माने तो मौसम में बदलाव लोगों की सेहत पर प्रभाव डाल रहा है. लोगों को खुद से अलर्ट रहने की जरूरत है. कोई भी एंटीबायोटिक खुद से न लें और दवाएं भी डॉक्टर से सलाह के बाद लें. घरों में अगर सिपेज हो रहा है तो वहां विशेष ध्यान देने की जरूरत है. चूंकि इसकी वजह से एलर्जी लोगों को हो रही है.

इसे भी पढ़ें : झोलाछाप डॉक्टर ने सिर में छोड़ा  दिया पत्थर, आपरेशन के बाद निकाला गया

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: