न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अल्बेंडाजोल का नहीं है कोई साइड इफेक्ट, बेझिझक खिलायें अपने बच्चों को : स्वास्थ्य सचिव

116

Ranchi : अल्बेंडाजोल दवा खाने से कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है. प्रत्येक अभिभावक को अपने बच्चों को अल्बेंडाजोल की दवा जरूर खिलानी चाहिए. ये बातें स्वास्थ्य सचिव डॉ नितिन मदन कुलकर्णी ने सदर अस्पताल में आयोजित एक कार्यक्रम में कहीं. डॉ कुलकर्णी कृमि दिवस से पूर्व निजी विद्यालय, इंटर कॉलेज एवं तकनीकी संस्थानों के प्रतिनिधियों के साथ आयोजित राज्यस्तरीय बैठक में उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि आठ फरवरी को राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस मनाया जायेगा. इससे पूर्व सभी विद्यालयों व अन्य स्थानों में इससे संबंधित पोस्टर-बैनर चिपका दिये जायें, ताकि ज्यादा से ज्यादा बच्चों को अल्बेंडाजोल की दवा खिलायी जा सके. स्कूल प्रतिनिधियों द्वारा परीक्षा के सवाल पर उन्होंने कहा कि परीक्षा प्रभावित नहीं हो, इसलिए स्कूल अपनी सुविधा के अनुसार कार्यक्रम में एक दिन का फेरबदल कर सकते हैं.

दवा खिलाने के बाद तुरंत भेजें रिपोर्ट

स्वास्थ्य सचिव ने सभी विद्यालयों के प्रतिनिधियों को निर्देश देते हुए कहा कि बच्चों को दवा खिलाने के बाद विद्यालय तुरंत रिपोर्ट तैयार करें और उसी दिन ई-मेल या वाट्सएप के जरिये इसे संबंधित जिलों में भेजेंगे. इससे यह स्पष्ट हो पायेगा कि किस स्कूल में कितने बच्चों को दवा खिलायी गयी. उन्होंने कहा कि शिक्षक खुद भी बच्चों के सामने दवा खा सकते हैं, यह एक अच्छी प्रैक्टिस है. डॉ नितिन मदन कुलकर्णी ने कहा कि हो सके, तो स्कूलों में मॉर्निंग असेंबली के समय ही बच्चों को दवा खिलायी जाये और उन्हें दवा खिलाने की वजह भी जरूर बतायी जाये.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

43,881 स्कूलों के लगभग 1.42 करोड़ बच्चों को खिलायी जायेगी दवा

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अभियान निदेशक कृपा नंद झा ने बताया कि आठ फरवरी 2019 से शुरू हो रहे राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस में झारखंड के एक से 19 साल तक के लगभग 1.42 करोड़ से ज्यादा बच्चों को अल्बेंडाजोल दवा खिलाने का लक्ष्य रखा गया है. उन्होंने बताया कि इस अभियान में राज्य के 43,881 निजी और सरकारी विद्यालयों के बच्चों को दवा खिलायी जायेगी. इससे संबंधित किसी प्रकार की जानकारी के लिए टोल फ्री नंबर 104 पर फोन कर परामर्श लिया जा सकता है. उन्होंने कहा कि जो बच्चे 8 फरवरी को दवा खाने से छूट जायेंगे, उन्हें मॉप अप राउंड के दिन अर्थात 14 फरवरी को दवा खिलायी जायेगी. मौके पर उपस्थित सभी सदस्यों ने कुष्ठ उन्मूलन कार्यक्रम ”स्पर्श” के अंतर्गत कुष्ठ रोग को समाप्त करने की शपथ ली. कार्यक्रम में सिविल सर्जन डॉ बीवी प्रसाद व अन्य डॉक्टर मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें- प्रदीप यादव ने कहा एक शौचालय पर है 6000 का कमीशन, अध्यक्ष ने कहा नह इतना नहीं है

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like