न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

महिलाओं को आत्मनिर्भर और सशक्त करने के लिए आजसू तत्पर: सुदेश

1,067

सुदेश ने कहा, ‘बदल दीजिए सारे मायने, बुढ़मू का विकास आपके हाथों होगा’

महिला सम्मेलन में उमड़ी भीड़, आजसू प्रमुख ने बढ़ाया आत्मविश्वास

Aqua Spa Salon 5/02/2020

Ranchi: चुनावी मौसम में पार्टी के चुनावी प्रचार में बुढ़मू पहुंचे आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो ने महिला समूहों के सम्मान को सरकार की प्रमुख प्राथमिकता बताया है.

उन्होंने कहा कि पहले की तुलना में आज गांव की महिलाएं एकजुट हो गयी हैं. घर-समाज बदलने की उनमें काफी बेचैनी है. ऐसे में जरूरत है कि इन महिलाओं को नारी शक्ति का अहसास कराया जाये.

कांके विधानसभा के बुढ़मू में आयोजित महिला सम्मेलन में आयी महिलाओं को संबोधित करते हुए सुदेश महतो ने कहा कि महिलाओं को देश के सभी मिथकों को तोड़ देने की आवश्यकता है.

इसे भी पढ़ेंःसेंट्रल मॉल से गिरकर मजदूर की मौत के बाद परिजनों का हंगामा, सड़क जाम

ऐसा होता है, तो बुढ़मू का विकास इन महिलाओं के हाथों में होगा. सामाजिक तौर पर महिलाओं की एकजुटता और बदलाव की कोशिशें राजनीति में भी असर करेगी. आपको आत्मनिर्भर बनाने और सशक्त करने के लिए उनकी पार्टी हर स्तर पर काम करेंगी.

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

इस अवसर पर मुख्य प्रवक्ता डॉ देवशरण भगत, महासचिव राजेंद्र मेहता, उपाध्यक्ष हसन अंसारी, जिला परिषद उपाध्यक्ष पार्वती देवी, जिलाध्यक्ष संजय महतो सहित कई लोग उपस्थित थे.

आजसू के प्रयासों से हजारों महिलाएं समूह के तौर पर उभरी

आजसू सुप्रीमो ने कहा कि कुछ साल पहले तक परिवारों-गांवों और खास कर पुरूष प्रधान समाज में महिलाओं की भागीदारी और अहमियत किस रूप में था. यह किसी से छिपा नहीं है. लेकिन सात साल सरकार में रहकर आजसू ने संजीवनी योजना की शुरुआत की.

योजना के तहत हजारों महिलाएं समूह की ताकत के तौर पर उभरी हैं. गांव-गांव में समूहों के बैंक और खाते खुल गए. कोई दीदी बच्चों को पढ़ाने के लिए पैसे की मोहताज नहीं रहती. कोई किसी के आगे हाथ नहीं बढ़ाता. अब जरूरी है कि घर-घर आजीविका लानी है इसके लिए वातावरण बनाना होगा.

सामाजिक कार्यों में प्रभाव बढ़ाएं, राजनीति में भी होगा असरदार

सम्मेलन में उमड़ी भीड़ देखकर महिलाओं की एकजुटता और कोशिशों की सराहना करते हुए सुदेश महतो ने कहा कि आत्मनिर्भर बनने और आजीविका सुनिश्चित करने के लिए जरूरी है कि महिलाएं आगे आएं.

गांवों में शौचालय निर्माण से लेकर अन्य विकास की योजनाओं में भागीदारी लेना, इस काम के लिए एक अहम हथियार है. उन्होंने कहा कि इसके लिए प्रस्ताव तैयार करिये. हम उस पर पहल करेंगे.

इसे भी पढ़ेंःजमशेदपुरः टाटा मोटर्स के अलावे टाटा की सभी इकाइयों में अब तक बोनस पेंडिंग, कर्मचारियों में निराशा

सुदेश ने कहा कि आजसू की राजनीतिक मुख्यतः समाज को सशक्त करने में है. सामाजिक कार्यों में जब महिलाओं का प्रभाव बढ़ेगा, तो वे राजनीति में भी असरदार साबित होंगी. इसके लिए हम सभी लोग मिलकर मेहनत करेंगे.

उन्होंने महिला समूहों को उनकी ताकत का अहसास कराया. कहा कि आपने ही अपने गांव घर की पार्वती देवी को रांची जिला परिषद के उपाध्यक्ष के पद तक पहुंचाया है. जो बुढ़मू से निकलकर रांची जिले की 17 लाख ग्रामीण आबादी का प्रतिनिधित्व कर रही है.

इसे भी पढ़ेंःटेरर फंडिंग: नामजद अभियुक्त बनाये गये 77 लोगों के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई शुरू

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like