JharkhandJharkhand PoliticsLead NewsRanchi

आजसू पार्टी का आरोप- कोरोना की दूसरी लहर में कफन तक सीमित रह गयी सरकार

Ranchi: आजसू पार्टी के मुताबिक कोरोना की दूसरी लहर में राज्य सरकार उम्मीदों पर खरा नहीं उतर सकी. पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने शनिवार को पार्टी की वर्चुअल मीटिंग में कहा कि यह सरकार कफन तक ही सीमित रह गयी. दूसरी लहर से लड़ने में वह पूरी तरह से फेल हो गयी.

जनता ने मंत्रियों के सामने लोगों को दम तोड़ते देखा. ऑक्सीजन सिलिंडर और दवाओं के लिए तरसते हुए देखा. सरकार मूकदर्शक बनी रही. राज्य में गरीबी, बेरोजगारी और पलायन चरम पर है. छात्रों और युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें :कोरोना वैक्सीन की खुराकों में अधिक अंतराल से संक्रमण का खतरा ज्यादा, विशेषज्ञों ने किया आगाह

advt

खोखला साबित हो रहा ऑनलाइन पढ़ाई का दावा

सुदेश कुमार महतो की अध्यक्षता में आयोजित वर्चुअल मीटिंग में पार्टी के सभी केंद्रीय पदाधिकारी, अनुषंगी इकाई के अध्यक्ष एवं सचिव, जिला अध्यक्ष, जिला सचिव, विधानसभा प्रभारी एवं जिला प्रभारी उपस्थित रहें.

इस दौरान कोरोना काल में पार्टी द्वारा चलाए गए सेवा कार्य व टीकाकरण अभियान को लेकर समीक्षा की गयी. इस दौरान 22 जून को मनाए जानेवाले संकल्प दिवस के साथ-साथ संगठन के विषयों पर भी विस्तृत चर्चा की गयी.

adv

सुदेश महतो ने शिक्षा की दयनीत हालत का जिक्र करते कहा कि आज पूरा विश्व कोरोना संकटकाल के दौर से गुजर रहा है. शिक्षा के क्षेत्र में कोरोना का व्यापक असर दिख रहा है. पिछले चौदह महीने से सरकारी स्कूल बंद चल रहे हैं.

सरकार और शिक्षा विभाग बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई करवाने का दावा करती है लेकिन हकीकत के धरातल पर तस्वीर इससे उलट ही नज़र आती है. ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों के पास स्मार्टफोन उपलब्ध नहीं होने के कारण लाखों विद्यार्थी पढ़ाई से दूर जा चुके हैं.

इसे भी पढ़ें :संडे लॉकडाउन: शहर के चौक-चौराहों पर होगी मास्क चेकिंग, जरूरत पड़ी तो अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती

रोजगार सृजन में सरकार फेल

सत्ता में आने से पहले झामुमो ने हर साल पांच लाख युवाओं को रोजगार देने की बात कही थी. लेकिन पिछले डेढ़ वर्षों में महागठबंधन सरकार के तमाम दावों के विपरीत बेरोजगारी विकराल रुप धारण कर चुकी है.

सरकार का सभी दावा केवल खोखला साबित हो रहा है. सरकार युवाओं के साथ धोखा कर रही. सुदेश ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि कोरोना से मरने वालों के परिजनों व आश्रितों के लिए आर्थिक पैकेज की घोषणा की जाये.

कोरोना महामारी ने चारों तरफ से लोगों के लिए परेशानी खड़ी कर दी है. बहुत से लोग ऐसे हैं जिनके अपनों की मौत हो गई. घर में जो कमाने वाला था उसकी मौत हो गई. अब घर में कोई कमाने वाला नहीं है.

कई बच्चे ऐसे हैं जिनके मां-बाप दोनों चले गए. कई बुजुर्ग हैं जिनके कमाने वाले जवान बच्चे चले गए. ऐसे में पार्टी यह मांग करती है कि कोरोना से मरने वालों के परिजनों व आश्रितों को आर्थिक पैकेज मिले.

इसे भी पढ़ें: GOOD NEWS : ब्लैक फंगस की दवा टैक्स फ्री, मेडिकल उपकरणों सहित कई दवाओं पर GST में भारी कटौती

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: