न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

डबल डिजिट में पहुंचने को आजसू बेकरार, 19 सीटों पर है दावेदार

सुदेश महतो दो सीटों पर लड़ सकते हैं चुनाव

1,791
  • लोजपा की भी आधा दर्जन सीटों पर नजर
  • लोजपा के खाते में जरमुंडी और सिमरिया विधानसभा सीट की संभावना

Pravin Kumar

Ranchi: विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही राज्य में राजनीतिक तपिश बढ़ने लगी है. एक तरफ महागठबंधन की कोई खास हलचल नजर नहीं आ रही तो दूसरी ओर एनडीए में सीटों को लेकर मारामरी बढ़ने के आसार हैं.

Sport House

एनडीए के घटक दल लोजपा, आजसूपा, जदयू और भाजपा अपनी-अपनी तैयारी में लगी हुई हैं. एनडीए के बड़े घटक दल भाजपा ने जहां 65 प्लस लक्ष्य रखा है वहीं आजसू ने भी 10 प्लस का लक्ष्य रखा है.

एनडीए का एक औऱ घटक दल लोजपा भी आधा दर्जन सीटों पर नजर गड़ाये हुए हैं, जबकि जदयू ने एक दर्जन के करीब संभावित उम्मीदवारों के नाम की घोषणा पिछले हफ्ते कर दी है.

इस स्थिति में जदयू की गतिविधि एनडीए से बहार रह कर चुनाव लड़ने की दिख रही है.

Vision House 17/01/2020

इसे भी पढ़ें – #RBI के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने दी चेतावनी, कहा- गंभीर संकट की तरफ बढ़ रही भारत की अर्थव्यवस्था

आजसू ने की 19 सीटों पर दावेदारी

राज्य में एनडीए में भाजपा के बाद दूसरे बड़े घटक दल आजसू ने भी 19 सीटों की दावेदारी कर दी है. सूत्रों की मानें तो भाजपा आजसू को 9 से 11 सीट देने पर सहमत हो सकती है. वहीं लोजपा के खाते जरमुंडी और सिमरिया विधानसभा सीट जा सकती है.

SP Deoghar

आजसू हर-हर में डबल डिजिट नंबर पर विधायकों की संख्या पहुंचना चहती है. आजसू सूत्रों के अनुसार पार्टी ने 30 विधानसभा सीटों पर तैयारी पूरी कर ली है. वहीं कम से कम 19 सीटों पर चुनाव लड़ना चहती है.

Related Posts

सूत्रो के मुताबिक आजसू पार्टी ने 19 सीटों की दावेदारी भाजपा चुनाव प्रभारी ओम माथुर के समक्ष कर रखी है. जिन सीटों पर आजसू 2014 में चुनाव लड़ी थी, उनमें से एक-दो सीट फेरबदल होने की संभावना मानी जा रही है.

सिल्ली, रामगढ़, जुगसलाई, टुंडी, तमाड़, चंदनकियारी, बड़कागांव, लोहरदगा, मांडू, गोमिया, पाकुड़, पांकी, डुमरी, चक्रधरपुर, सिमरिया, सरायकेला, जरमुंडी, सिंदरी, ईचागढ़ शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें – #EconomyRecession: जारी है उत्पादन में गिरावट, इंडस्ट्रियल सेक्टर का सात सालों का सबसे खराब प्रदर्शन

2014 के चुनाव में 8 सीटों पर चुनाव लड़ कर 5 में जीत

2014 विधानसभा चुनाव में एनडीए के घटक दल के रूप में आजसू पार्टी ने चुनाव लड़ा था, जिसमें 5 सीट पर आजसू ने भले ही जीत दर्ज की, पर आजसू प्रमुख सुदेश महतो सिल्ली से चुनाव हार गये.

बाद में हुए उपचुनाव में भी आजसू पार्टी प्रमुख चुनाव हारे. 2014 के चुनाव में लोहरदगा, चंदनक्यारी, बड़कागांव, टुंडी, रामगढ़, सिल्ली, तमाड़ व जुगसलाई सीटों पर पार्टी ने चुनाव लड़ा था, जिसमें बड़कागांव, सिल्ली, जुगसलाई सीट पर आजसू पार्टी को पराजय का मुंह देखना पड़ा था.

लोहरदगा से पार्टी विधायक कमल किशोर भगत को सजा होने के बाद हुए उपचुनाव में पार्टी को सीट खोनी पड़ी. सिल्ली सीट से पार्टी प्रमुख की उपचुनाव में भी हुई हार के बाद सिल्ली के अलावा कहीं दूसरी सेफ सीट से भाग्य आजमाने की संभावना जतायी जा रही है. माना जा रहा है सुदेश महतो दो सीटों से चुनाव लड़ सकते हैं.

आजसू पार्टी की है 30 सीटों पर तैयारी

आजसू पार्टी 30 सीटों पर तैयारी कर रही है. सूत्रों के मुताबिक 19 सीटों की मांग एनडीए गठबंधन में कर रही है. आजसू के द्वारा बूथ स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन, महिला सम्मान सम्मेलन, एक बूथ 25 यूथ, से आगे बढ़ते हुए हर यूथ को 15 परिवारों को पार्टी के पक्ष में वोट कराने के लिए प्रेरित करने का जिम्मा सौंपा है.

पार्टी की नीतियों को घर-घर पहुंचाने के लिए चूल्हा प्रमुख को लगाया गया है. पार्टी ने हर बूथ पर 25 चूल्हा प्रमुख बनाये हैं. पार्टी अपनी संगठनात्मक गतिविधियों का विस्तार कर ताना-बाना बुन रही है.

इसे भी पढ़ें – जमशेदपुरः जेएमएम विधायक चंपई सोरेन के बेटे बाबूलाल सोरेन डिफॉल्टर साबित, संपति होगी जब्त

Mayfair 2-1-2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like