BokaroJharkhand

बोकारो के बुंडू पंचायत के मुखिया अजय सिंह को मिला 2020 का बाल हितैषी पुरस्कार

विज्ञापन

♦इस पुरस्कार के लिए देश के सभी राज्यों से कुल 30 मुखिया का चयन किया गया

Bokaro : केंद्र सरकार के पंचायती राज मंत्रालय की ओर से हर वर्ष ग्राम पंचायत सशक्तीकरण पुरस्कार की घोषणा की जाती है. बाल हितैषी ग्राम पंचायत अवार्ड, 2020 के तहत झारखंड राज्य से एकमात्र पंचायत बोकारो जिले के पेटरवार प्रखंड अंतर्गत बुंडू ग्राम पंचायत को चयनित किया गया है. बोकारो के उपायुक्त राजेश सिंह ने पंचायत के मुखिया अजय सिंह को पुरस्कार प्रदान किया. यह पुरस्कार वर्ष 2018-19 के मूल्यांकन के लिए दिया गया है.

पंचायती राज विभाग की ओर से देश के सभी राज्यों से एक-एक मुखिया ग्रुप में कुल 30 मुखिया का चयन हुआ है. इनका चयन पंचायत में बाल विकास समेत अन्य क्षेत्रों में पंचायतों के विकास में अहम भूमिका निभाने के कारण हुआ है. यह हर वर्ष 24 अप्रैल को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर पंचायत सशक्तीकरण पुरस्कार के तहत चयनित पंचायतों को पुरस्कृत दिया जाता है. लेकिन उक्त समय में कोरोना के कारण देश को लॉकडाउन किया गया था, जिसके कारण कार्यक्रम स्थगित किया गया. साथ ही सभी पंचायतों को चयनित किया हुआ अवार्ड डाक के द्वारा भेजा गया. जिसे आज प्रदान किया गया.

advt

इसे भी पढ़ें – जीएसटी के 2500 करोड़ के साथ 50,000 एकड़ भूमि के एवज में 45,000 करोड़ का भुगतान करे केंद्र : डॉ उरांव

राष्ट्रीय स्तर पर है बुंडू पंचायत की पहचान

बुंडू पंचायत का बाल विकास हितैषी पुरस्कार के लिए चयनित होने पर मुखिया अजय कुमार सिंह ने हर्ष जाहिर किया. उन्होंने बताया कि पंचायत क्षेत्र में विकास मेरी पहली प्राथमिकता है. यह पुरस्कार ग्रामीणों, आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका एवं अन्य के सहयोग से इस पंचायत को मिला है. जिसके कारण बुंडू पंचायत की पहचान राष्ट्रीय स्तर पर हुई है.

इसे भी पढ़ें – करमा पूजा पर इस बार अखड़ा में नहीं लगेगी भीड़, जनजातीय संगठनों ने कहा- तीन दिनों का राजकीय अवकाश घोषित करे सरकार

बच्चों व गर्भवती महिलाओं का शत प्रतिशत टीका किया

मुखिया अजय कुमार सिंह ने बताया कि बुंडू पंचायत में नियमित रूप से बच्चों व गर्भवती महिलाओं का शत प्रतिशत टीका किया जाता है. साथ ही उन्होंने बताया कि बाल विवाह मुक्त पंचायत के साथ स्कूलो में बच्चों की उपस्थिति अधिक करने पर जोर दिया गया. स्कूलों में साफ-सफाई एवं बेहत्तर उपलब्ध संसाधन एवं आंगनबाड़ी की क्रियाशीलता पर जोर दिया गया है.

adv

इसे भी पढ़ें – दो कार्यपालक अभियंताओं को बनाया गया रांची नगर निगम का टाउन प्लानर

advt
Advertisement

4 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button