BiharLead News

आइसा और इंकलाबी नौजवान सभा ने 28 जनवरी को किया बिहार बंद का ऐलान

Patna : आइसा के राज्य सचिव सबीर कुमार और इंकलाबी नौजवान सभा के सचिव शिवप्रकाश रंजन ने कहा है कि युवाओं का गुस्सा इसलिए भी भड़का हुआ क्योंकि केंद्र सरकार रेलवे का निजीकरण कर रही है.
दोनों संघों ने छात्र-युवाओं के आंदोलन के समर्थन में 28 जनवरी को बिहार बंद का आह्वान किया है. माना जा रहा है कि यह बंद व्यापक हो सकता है. इन्होंने रिजल्ट में गड़बड़ी और ग्रुप डी की परीक्षा में तुगलकी फरमान को लेकर सरकार पर निशाना साधा.

इसे भी पढ़ें : झारखंड में बदल गया एमबीबीएस में एडमिशन के काउंसलिंग का शेड्यूल, जानें- क्या है नया डेट

दोनों लेफ्ट संगठनों ने आंदोलनरत अभ्यर्थियों पर बर्बर दमन, लाठीचार्ज, आंसू गैस के गोले, मुकदमा और गिरफ्तारी की निंदा की है. इनौस के राष्ट्रीय अध्यक्ष और विधायक मनोज मंजिल, आइसा के महासचिव और विधायक संदीप सौरभ, इनौस के मानद प्रदेश अध्यक्ष और विधायक अजीत कुशवाहा, इनौस के राज्य अध्यक्ष आफताब आलम, आइसा के राज्य अध्यक्ष विकास यादव, इनौस के राज्य सचिव शिवप्रकाश रंजन व आइसा के राज्य सचिव सबीर कुमार ने संयुक्त रूप से कहा कि आंदोलनरत छात्र-युवा अपने आक्रोश को मोदी-नीतीश सरकार के खिलाफ मोड़ दें और चरणबद्ध आंदोलन खड़ा करते हुए रेलवे बेचने और नौकरियां खत्म करने पर आमदा मोदी सरकार को पीछे हटने पर मजबूर कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें :  राष्ट्रीय गीत प्रतियोगीता में जमशेदपुर की जशामा व गालूडीह की निवेदिता विजेता

Advt

Related Articles

Back to top button