National

जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर एयर स्ट्राइक : भाजपा नेताओं को बयान देने में संयम बरतने की सलाह

NewDelhi : भाजपा ने जैश-ए-मोहम्मद के  बालाकोट स्थित ट्रेनिंग कैंपों पर भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक को लेकर अपने नेताओं को नसीहत दी है कि सभी नेता बयान देने में संयम बरतें. कहा है कि यह कार्रवाई आतंकियों के ट्रेनिंग कैंप नष्ट करने के लिए की गयी थी.  यह किसी भी तरह की सैन्य कार्रवाई नहीं थी. भाजपा ने अपने नेताओं से कहा है कि इसे बदले की कार्रवाई के तौर पर पेश नहीं किया जाये. खबरों के अनुसार सुरक्षा समिति की बैठक में इस पर चर्चा की गयी. एक वरिष्ठ नेता के अनुसार सुरक्षा मामले पर कैबिनेट समिति (सीसीएस) की बैठक के बाद भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ताओं को वित्त मंत्री अरुण जेटली और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि पार्टी नेताओं को इस एयर स्ट्राइक पर कम से कम कुछ दिनों के लिए छाती ठोकने से बचना चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा, हमें इस बात का अंदाजा नहीं है कि पाकिस्तान इस पर क्या प्रतिक्रिया देगा. अभी खुश  होने का समय नहीं है, हमें सचेत रहना होगा.

देश सुरक्षित हाथों में है

बता दें कि भारतीय वायुसेना ने मंगलवार, 26 फरवरी तड़के करीब 3:30 बजे बालाकोट स्थित जैश के ट्रेनिंग सेंटर पर बम बरसाये.  मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसारइस कार्रवाई में 200-300 आतंकियों के मारे जाने की खबर है. इसमें मसूद अजहर के रिश्तेदार भी शामिल हैं.  मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार भाजपा आलाकमान ने मंगलवार को अपने राष्ट्रीय प्रवक्ताओं को सलाह दी कि अपने बयानों में भारत की वैश्विक छवि का ख्याल रखें.  साथ ही एयर स्ट्राइक को बदले के रूप में पेश न करें.  इसके पूर्व मंगलवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने राजस्थान के चूरू में एक जनसभा को संबोधित करते हुए भारतीय वायुसेना की तारीफ करते हुए कहा कि आज का दिन भारत के बहादुरों को श्रद्धांजलि देने का दिन है;  आज चुरू की धरती से मैं लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि देश सुरक्षित हाथों में है.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: