Crime NewsLead NewsNationalTOP SLIDER

AIR FORCE  STATION जम्मू में IED  के दो विस्फोट, ड्रोन के इस्तेमाल से पाकिस्तान पर शक

भारतीय वायुसेना ने भी ट्वीट कर हमले की जानकारी दी

 Jammu : जम्मू एयरपोर्ट के बेहद सुरक्षा वाले टेक्निकल एरिया में शनिवार देर रात पांच मिनट के अंतर पर दो धमाके (Jammu Airport Explosion) सुने गए, जिसके बाद इलाके में सुरक्षाकर्मी हाई अलर्ट पर आ गए. इस धमाके में कम से कम दो लोगों के मामूली रूप से घायल होने की खबर है. सूत्रों के अनुसार, जम्मू टेक्निकल एयरपोर्ट पर शनिवार रात हुए दो धमाकों में ड्रोन का इस्तेमाल किया गया है. दोनों धमाके एयरपोर्ट के भीतर हुए हैं और माना जा रहा है कि यहां ड्रोन के जरिये IED गिराए गए. ड्रोन के इस्तेमाल की खबरों से पाकिस्तान पर शक गहराने लगा है.

सूत्रों का कहना है कि एक विस्फोटक सामग्री इमारत की छत के ऊपर आकर गिरी थी, जिसने पूरी बैरक को डिस्ट्रॉय कर दिया है. दूसरा धमाका इमारत के साथ ओपन एरिया में हुआ है. इन दोनों धमाकों की जांच के लिए एनआईए की टीम जम्मू टेक्निकल एयरपोर्ट पहुंची है.

इसे भी पढ़ें :RJD के 25वें स्थापना दिवस पर कार्यकर्ताओं को संबोधित कर सकते है लालू प्रसाद

 

 

इसे भी पढ़ें :कर्मियों को चेतावनीः 10 बजे के बाद कार्यालय आयें तो होंगे टर्मिनेट

 

बम निरोधक दस्ता और फॉरेंसिक टीम पहुंची

भारतीय वायुसेना ने भी ट्वीट कर बताया कि जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर लो-इंटेंसिटी के दो धमाके हुए थे. एक धमाके में बिल्डिंग की छत डैमेज हुई, वहीं दूसरा धमाका जमीन पर हुआ, लेकिन उससे कोई नुकसान नहीं हुआ.

शनिवार देर रात दो बजे के करीब एयरपोर्ट के टेक्निकल एरिया के पास धमाके की आवाज़ सुनी गई. धमाके की सूचना मिलते ही  और बम निरोधक दस्ता और फॉरेंसिक टीम (Forensic Team) मौके पर पहुंच गई है. यह धमाका उतना भीषण नहीं था और फिर जांच दल इसके कारण का पता लगा रही है.

सुरक्षा एजेंसियों को अंदेशा है कि ये आतंकी घटना भी हो सकती है. घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची जम्मू-कश्मीर पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों की टीम ने जांच में ब्‍लास्‍ट की पुष्टि की.

बता दें कि जम्‍मू-कश्‍मीर में एक बार फिर आतंकी संगठन सक्रिय हो रहे हैं. हालांकि भारतीय जवानों ने उन पर नकेल कसी हुई है. ऐसे में एयरपोर्ट परिसर के अंदर इस तरह से ब्‍लास्‍ट की खबर ने हर किसी को परेशान कर दिया है. ब्‍लास्‍ट में किसी भी तरह के जानमाल के नुकसान की खबर अभी तक नहीं मिली है.

इसे भी पढ़ें :बिहार में मानसून के बाद हो सकते हैं पंचायत चुनाव, फिर से होगी मतदान केंद्रों की पहचान

Advt

Related Articles

Back to top button