Lead NewsNational

वायु सेना ने डल झील पर दिखाई हैरतअंगेज कलाबाजियां, कश्मीरी युवाओं के लिए हुआ AIR SHOW

आजादी का अमृत महोत्सव' समारोह के आयोजन में 5000 से अधिक स्टूडेंट्स हुए शामिल

Srinagar : देश की आजादी के 75 साल के उपलक्ष्य में मनाए जा रहे ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ समारोह के तहत रविवार को भारतीय वायुसेना ने कश्मीर के डल झील के ऊपर एयर शो आयोजन किया. वायु सैनिकों ने अपनी हैरतअंगेज कलाबाजियों से दर्शकों का मनमोह लिया.

शो की थीम ‘गिव विंग्स टू योर ड्रीम्स’ रखी गई थी. विमान के प्रभावशाली युद्धाभ्यास को देखने के लिए 5000 से अधिक कॉलेज और स्कूली छात्रों के साथ कई विशिष्ट लोगों ने भी कार्यक्रम में भाग लिया.

इसे भी पढ़ें :चतरा : पुलिस की वर्दी में करता था लूटपाट, गिरफ्तार

advt

Dull Lake Air Show 2

यह एयर शो खास तौर पर युवाओं के लिए आयोजित किया गया था. शो की शुरुआत पैरा मोटर और पैरा हैंग ग्लाइडर डिस्प्ले के साथ हुई, इसके बाद मिग 21 बाइसन ने त्रिकोणीय 3 एयरक्राफ्ट फॉर्मेशन में उड़ान भरी.

इसे भी पढ़ें :Flipkart की Festival Day Sale को देखते हुए Amazon ने Great Indian Festival Sale को लेकर लिया बड़ा फैसला

adv

स्काईडाइविंग टीम आकाशगंगा ने लगाई छलांग

वायुसेना की स्काईडाइविंग टीम आकाशगंगा ने खूबसूरत डल झील के ऊपर एमआई 17 हेलीकॉप्टर से कूदते हुए दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया. इसके बाद सुखोई 30 एमकेआई ने बेहद कम ऊंचाई के एरोबेटिक डिस्प्ले के साथ अपनी कला का प्रदर्शन किया.

इसे भी पढ़ें :रिम्स के विभागों का तैयार हो रहा डाटा, वार्ड में कितने स्टाफ कर रहे ड्यूटी

‘सूर्यकिरण एरोबेटिक डिस्प्ले टीम’ का कमाल

हालांकि, इस आयोजन का मुख्य आकर्षण ‘सूर्यकिरण एरोबेटिक डिस्प्ले टीम’ या एसकेएटी था, जिसे ‘आईएएफ के राजदूत’ के रूप में भी जाना जाता है.

टीम को दुनिया की कुछ नौ विमान निर्माण टीमों में से एक होने का गौरव प्राप्त है. हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड द्वारा निर्मित अत्यधिक बहुमुखी हॉक्स को उड़ाते हुए, एसकेएटी ने आकाश में अपने सिंक्रनाइज़ एरियल बैले के साथ दिलों को जीत लिया.

चिनूक हेवी लिफ्ट हेलीकॉप्टर के युद्धाभ्यास ने एयर शो का समापन किया. वायुसेना के सिम्फनी ऑर्केस्ट्रा ने भी इस आयोजन में जलवा दिखाया.

 

एलजी मनोज सिन्हा दिखाई हरी झंडी

जम्मू-कश्मीर के एलजी मनोज सिन्हा डल झील के किनारे स्थित शेर-ए-कश्मीर इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर से इस कार्यक्रम को हरी झंडी दिखाई.

एयर ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ मुख्यालय पश्चिमी वायु कमान एयर मार्शल बीआर कृष्णा, वायुसेना के सबसे वरिष्ठ अधिकारी और मुख्य मेजबान थे.

इसके साथ ही शेर-ए-कश्मीर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन केंद्र में स्टॉल लगाए गए. छात्रों को भारतीय वायुसेना की उपलब्धियों, बल में रोजगार के अवसरों, भर्ती नियमों और पात्रता मानदंडों से परिचित कराया गया.

इसे भी पढ़ें :ग्रामीण कार्य विभाग: नये ठेकेदारों के निबंधन की प्रक्रिया अगले माह तक होगी पूरी

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: